अंकारा, एएफपी। तुर्की ने उइगर मुस्लिमों के साथ खराब बर्ताव को लेकर चीन पर निशाना साधा है। चीन की आलोचना करते हुए तुर्की ने उसके इस बर्ताव को मानवता को शर्मसार करने वाला करार दिया है। चीन के शिनजियांग क्षेत्र में तुर्की भाषा बोलने वाले उइगरों की बड़ी आबादी रहती है।

तुर्की के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हमी अक्सोया ने शनिवार को कहा, 'उइगरों के प्रति चीनी अधिकारियों की सुनियोजित नीति मानवता को शर्मसार करने वाली है। अब यह कोई राज नहीं रहा है कि हिरासत केंद्रों में दस लाख से अधिक उइगर यातना का सामना कर रहे हैं और उनका मत परिवर्तन किया जा रहा है।' तुर्की ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय और संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुतेरस से अपील की है कि वे शिनजियांग में व्याप्त इस मानव त्रासदी पर रोक लगाने के लिए प्रभावी कदम उठाएं।

चीन ने अपने पश्चिमोत्तर क्षेत्र में हिंसा और तनाव बढ़ने के बाद उइगर अल्पसंख्यकों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाया है। इन पर नजर रखने के साथ ही कई तरह की बंदिशें भी लगाई गई हैं। संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों की एक समिति के अनुसार, करीब दस लाख उइगरों और तुर्की बोलने वाले दूसरे अल्पसंख्यकों को हिरासत केंद्रों में रखा गया है। आलोचकों का कहना है कि चीन अल्पसंख्यक समुदाय की धार्मिक और सांस्कृतिक परंपराओं का दमन कर रहा है। हालांकि चीन इन आरोपों से इन्कार करता रहा है। वह इन हिरासत केंद्रों को व्यावसायिक शिक्षा केंद्र बताता है।

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप