बगदाद, एएफपी। एक हफ्ते तक चले सरकार-विरोधी हिंसक प्रदर्शनों के बाद इराक में अब हालात सुधर रहे हैं। मंगलवार से ही राजधानी बगदाद समेत कई हिस्सों में जनजीवन सामान्य हो गया था। बुधवार को पहले की तरह ही सड़कों पर भीड़ दिखी। कई दिनों के बंद के बाद बच्चे भी स्कूल लौटे। हालांकि, इंटरनेट सेवा अभी बाधित है। मंगलवार को कई जगहों पर रुक रुककर इंटरनेट चला, जिसके बाद प्रदर्शनों की कई तस्वीर सोशल मीडिया पर सामने आई। बुधवार को इंटरनेट फिर ठप हो गया।

सेना और प्रदर्शनकारियों में भिड़ंत

बेरोजगारी, भ्रष्टाचार व बदतर सुविधाओं के चलते पिछले हफ्ते मंगलवार को सरकार विरोधी प्रदर्शन शुरू हुए थे। प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री आदिल अब्दुल मेहदी के इस्तीफे की मांग कर रहे थे। प्रदर्शनकारियों व सुरक्षाबलों की भिड़त के चलते कई बार प्रदर्शन हिंसक हो गया। इन प्रदर्शनों में 100 से ज्यादा लोग मारे गए और छह हजार से ज्यादा घायल हुए। रविवार की रात बगदाद के साद्र जिले में सेना व प्रदर्शनकारी की भिड़ंत में 13 की जान गई। इसके बाद सेना ने प्रदर्शनकारियों पर अत्यधिक बल प्रयोग की बात स्वीकार कर ली थी।

पोंपियो ने हिंसा की निंदा की

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने प्रदर्शनकारियों पर हुई हिंसा की निंदा की। उन्होंने इराक सरकार से संयम बनाए रखने और मानवाधिकार हनन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। उन्होंने यह भी कहा कि शांति पूर्ण प्रदर्शन लोकतंत्र का मूल तत्व है और इसमें हिंसा की कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: भारत की चीन को दो टूक- कश्मीर हमारा आंतरिक मामला, किसी को दखल देने की जरूरत नहीं

यह भी पढ़ें: इस पाक शख्‍स ने खोली इमरान खान और आर्मी की पोल, 90% लोगों को बताया जाहिल

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप