यरुशलम, प्रेट्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इजरायली बालक मोशे ज्वी हॉट्जबर्ग को एक बार फिर रोमांचित किया है। मोदी ने मोशे की 13 वीं वर्षगांठ पर उसे यहूदी समुदाय में मनाए जाने वाले बार मिजवाह संस्कार के लिए शुभकामनाएं दी हैं। मोशे 28 नवंबर को 13 साल का हो गया।

मुंबई हमले में मारे गए थे माता-पिता 

मोशे वह बालक है जिसके माता-पिता को 2008 के मुंबई आतंकी हमले में आतंकियों ने निर्ममता से मार डाला था। दो साल के रोते हुए मोशे को उसकी भारतीय नैनी (धाय) सेंड्रा सैम्युएल्स ने बचाया था। मोशे अपने दादा-दादी के साथ इस समय इजरायल में रह रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने इजरायल दौरे में खासतौर पर बुलाकर उससे मुलाकात की थी।

मोशे की आपबीती को अद्भुत बताया

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संदेश में मोशे की आपबीती को अद्भुत बताया है जो हमेशा सभी को प्रेरित करेगी। 2008 के आतंकी हमले में मुंबई में यहूदियों की रिहायश नरीमन हाउस भी पाकिस्तानी आतंकियों का निशाना बना था। इसी में रहने वाले मोशे के माता-पिता आतंकियों को गोलियों के शिकार हुए थे।

हमले के समय में मोशे सिर्फ दो साल का था 

दो साल का मोशे जब उनकी लाश के पास खड़ा रो रहा था, तभी गोलीबारी के बीच अपनी जान की परवाह किए बगैर सेंड्रा उसे लेकर एक स्थान पर छिप गई थी। कई घंटे बाद जब सुरक्षा बलों की कार्रवाई में आतंकी मारे गए तब सेंड्रा और मोशे सुरक्षित बाहर आ सके थे।

करोड़ों भारतीयों की ओर से शुभकामनाएं

खास उन्नयन संस्कार के मौके पर मोदी ने मोशे को करोड़ों भारतीयों की ओर से शुभकामनाएं और आशीष दी है। कहा है कि वह हमेशा भारतीयों की यादों में रहेगा और उसके कल्याण की कामना की जाती रहेगी। मोदी की पांच जुलाई, 2017 को यरुशलम की यात्रा के दौरान मोशे उनसे मिला था, तब उसने बड़े होकर मुंबई आने और वहां रहने की इच्छा जताई थी। मोशे ने भारतीयों के लिए प्यार भरा संदेश भी दिया था।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप