तेहरान, एएनआइ। ईरान में पेट्रोल की कीमतों में इजाफे के फैसले का देशव्यापी विरोध शुरू हो गया है। सिरजन में प्रदर्शन के दौरान एक नागरिक की मौत हो गई और एक अन्य घायल बताया जा रहा है। सरकार ने पेट्रोल की राशनिंग पर रोक लगाते हुए कीमतें डेढ़ गुना कर दी हैं।

सिरजन के गवर्नर मुहम्मद महमूदाबादी ने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण ढंग से किसी की मौत हो गई। यह अभी साफ नहीं है कि मृतक की मौत गोली लगने से हुई या नहीं।

स्मार्ट फ्यूल कार्ड के जरिए मिलेगा पेट्रोल

सरकारी तेल कंपनी नेशनल ईरानियन ऑयल प्रोडक्ट्स डिस्ट्रीब्यूशन ने शुक्रवार को बयान जारी कर बताया कि देश में अब स्मार्ट फ्यूल कार्ड के जरिए लोगों को पेट्रोल दिया जाएगा। फ्यूल कार्ड के जरिए एक महीने में निजी वाहनों के लिए 60 लीटर पेट्रोल 15 हजार रियाल (लगभग 32 रुपये) प्रति लीटर की कीमत पर खरीदा जा सकता है। यदि तय मात्रा से ज्यादा तेल खरीदना है तो 30 हजार रियाल (लगभग 64 रुपये) प्रति लीटर खर्च करने होंगे।

फैसले का जमकर हो रहा है विरोध

इस फैसले का स्थानीय स्तर पर जमकर विरोध हो रहा है। लोगों का कहना है यह कदम ऐसे वक्त पर उठाया गया है, जब उनकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष का अनुमान है कि इस साल ईरान की अर्थव्यवस्था 9 फीसद कम होगी। ऐसा अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण होगा, जिसने ईरान के राजस्व के मुख्य स्रोत तेल निर्यात पर रोक लगा दी है। ट्रंप प्रशासन के दौर में ईरान की अर्थव्यवस्था अपने सबसे बुरे दौर में है।

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप