नई दिल्ली, एएनआइ। जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान का इस्लामिक कार्ड फेल हो गया है। प्रमुख इस्लामिक देश सऊदी अरब ने भी इस मसले पर भारत के रुख का समर्थन कर दिया है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल के साथ बुधवार को रियाद में दो घंटे तक चली बैठक के दौरान सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में भारत के रुख और उसके उठाए कदमों को वह बखूबी समझते हैं।

सऊदी प्रिंस ने कहा- भारत के रुख को समझते हैं

उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि डोभाल और प्रिंस सलमान के बीच बैठक में द्विपक्षीय संबंधों से जुड़े कई मसलों पर विभिन्न पहलुओं से विचार-विमर्श हुआ। उन्होंने बताया, 'चर्चा के दौरान जम्मू-कश्मीर का मसला भी उठा जिस पर सऊदी प्रिंस ने कहा कि वह जम्मू-कश्मीर में भारतीय रुख और कार्रवाई के बारे में समझते हैं।' सऊदी अरब ने यह प्रतिक्रिया ऐसे समय व्यक्त की है जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पिछले दिनों संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में हिस्सा लेने जाते समय कश्मीर पर समर्थन जुटाने के मकसद से दो दिन सऊदी अरब में रुके थे। यही नहीं, वह न्यूयॉर्क भी सऊदी प्रिंस के विशेष विमान से ही गए थे। महासभा की बैठक के दौरान भी पाकिस्तान इस मसले पर अन्य देशों का समर्थन जुटाने में विफल रहा था।

सऊदी अरब ने हाल ही में किया है भारत में 100 अरब डॉलर का निवेश

सूत्रों ने आगे कहा कि डोभाल की सऊदी अरब की यह महत्वपूर्ण यात्रा आपसी हितों के मुद्दों पर दोनों पक्षों के बीच सर्वोच्च स्तर पर जारी विचार-विमर्श को रेखांकित करती है। यह यात्रा दोनों देशों के बीच गहरे जुड़ाव को और मजबूत करेगी और सहयोग के खास क्षेत्रों की पहचान में मदद करेगी। खासकर तब जबकि क्राउन प्रिंस के विजन 2030 के मुताबिक सऊदी अरब अपनी अर्थव्यवस्था के विस्तार की संभावनाएं तलाश रहा है। उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब ने हाल ही में भारत में 100 अरब डॉलर का निवेश करने की घोषणा की थी। डोभाल ने सऊदी प्रिंस के अलावा अपने समकक्ष मुसैद अल अल्बान से भी मुलाकात की।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस