दुबई, एजेंसियां। ओमान के सुल्तान (Omans sultan) हैथम बिन तारिक अल सैद (Haitham bin Tariq Al Said) ने सोमवार को संविधान में संशोधन की घोषणा की। इसमें पहली बार देश में क्राउन प्रिंस की नियुक्ति और संसद के कामकाज के लिए नए नियम शामिल हैं। सुल्तान की ओर से जारी नए बुनियादी कानून में नागरिकों के लिए ज्यादा अधिकारों और स्वतंत्रता में सरकार की भूमिका पर जोर दिया गया है। इनमें पुरुषों और महिलाओं के बीच समानता शामिल है।

एक साल पहले पूर्ववर्ती सुल्तान कबूस बिन सैद (Qaboos bin Said) की मृत्यु के बाद सुल्तान हैथम ने ओमान की सत्ता संभाली थी। कबूस ने 49 साल तक ओमान पर शासन किया। उनकी कोई संतान नहीं थी। जीवित रहते उन्होंने अपने उत्तराधिकारी के नाम का एलान भी नहीं किया था, बल्कि एक सीलबंद लिफाफे में उसका नाम लिखकर रख दिया था जिसे उनकी मृत्यु के बाद ही खोला जाना था। सुल्तान हैथम देश के पूर्व संस्कृति मंत्री और पूर्ववर्ती सुल्तान के कजिन हैं।

सुल्तान कबूस (Qaboos bin Said) के उत्तराधिकारी को लेकर गोपनीयता की वजह से देश में पिछले साल अफवाहों का बाजार गर्म हो गया था और देश के स्थायित्व को लेकर चिंताएं बढ़ गई थीं। क्राउन प्रिंस (crown prince) की नियुक्ति करने की सुल्तान हैथम (Haitham bin Tariq Al Said) की योजना से ओमान की राजनीति में अनिश्चितता का दौर खत्म होगा। नए बुनियादी कानून में क्राउन प्रिंस की नियुक्ति का तंत्र और उनके दायित्व भी निर्धारित किए गए हैं।

सुल्तान हैथम बिन तारिक अल सैद (Haitham bin Tariq Al Said) की ओर से किए गए संविधान संशोधन में कानून के शासन और न्यायपालिका की स्वतंत्रता को सत्ता का आधार बनाया गया है। सुल्तान (Haitham bin Tariq Al Said) ने सरकार और राज्यों में भी बदलाव किए हैं। इसके तहत वित्त और विदेश मंत्रियों के साथ साथ केंद्रीय बैंक के चेयरमैन की नियुक्ति भी की गई है। ये विभाग पहले दिवंगत सुल्तान के पास होते थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021