तेल अवीव, एएनआइ। इजरायल के साथ संबंधों में बढ़ रही गर्माहट के बीच राजधानी तेल अवीव पहुंचे भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने दोनों देशों की सेनाओं के बीच सहयोग बढ़ाने के बिंदुओं पर चर्चा की है। इस सिलसिले में जनरल नरवणे की वार्ता इजरायल की थल सेना के प्रमुख मेजर जनरल तमीर यादाई के साथ हुई है। भारतीय सेना के उप महानिदेशक (जनसंपर्क) ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है।

इजरायल के अपने दौरे में जनरल नरवणे शीर्ष सैन्य अधिकारियों के साथ ही राजनीतिक नेतृत्व कर रहे बड़े नेताओं से भी मुलाकात करेंगे। इन मुलाकातों में दोनों देशों के रक्षा संबंधों को नया आयाम देने पर चर्चा होगी।

रक्षा मंत्रालय के अनुसार दोनों देशों के शीर्ष सैन्य अधिकारी खास सैन्य संबंध स्थापित करने की रूपरेखा तैयार करेंगे। इससे पहले तेल अवीव पहुंचने पर जनरल नरवणे का वहां की सेना की ओर शानदार स्वागत किया गया। सेना के जवानों ने जनरल नरवणे को गार्ड आफ आनर दिया।

पिछले महीने विदेश मंत्री जयशंकर ने किया था इजरायल का दौरा

करीब 30 वर्षो के दोनों देशों के संबंधों में हाल के वर्षो में खास प्रगति हुई है। अक्टूबर में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इजरायल की यात्रा की थी। इसके बाद ग्लासगो में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की इजरायली समकक्ष नाफ्ताली बेनेट से हुई वार्ता के बाद दोनों देशों के संबंधों में और प्रगाढ़ता के संकेत मिल रहे हैं। जयशंकर और उनके इजरायली समकक्ष यायर लापिड ने संयुक्त अरब अमीरात और अमेरिका के विदेश मंत्रियों के साथ एक बैठक में भाग लिया था, जिससे एक नए तथाकथित 'क्वाड' के निर्माण की अटकलों की स्थापना हुई थी। भारत और अमेरिका की जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ 'चतुर्भुज' प्रारूप में नियमित बैठकें होती हैं।

इस बीच, पिछले महीने भारतीय रक्षा सचिव अजय कुमार ने इजरायल के रक्षा मंत्रालय के महानिदेशक मेजर जनरल आमिर एशेल के साथ बातचीत के लिए इजरायल का दौरा किया था। तब दोनों देश रक्षा सहयोग के नए क्षेत्रों पर काम करने के लिए एक टास्क फोर्स बनाने पर सहमत हुए थे। उल्लेखनीय है कि भारत के लिए इजरायल रक्षा उपकरणों का प्रमुख आपूर्तिकर्ता देश है।