रियाद, रायटर/आइएएनएस। एक डाक्यूमेंटरी में दावा किया गया है कि सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या की जिम्मेदारी ले ली है। क्राउन प्रिंस ने कहा कि खशोगी की हत्या को उनकी निगरानी में अंजाम दिया गया था। इस डाक्यूमेंटरी का प्रसारण एक अक्टूबर को किया जाएगा। खशोगी की पिछले साल दो अक्टूबर को सऊदी एजेंटों ने हत्या कर दी थी।

इसे तुर्की के इस्तांबुल शहर स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास में अंजाम दिया गया था। खशोगी की हत्या के लिए 15 सऊदी एजेंट विशेष विमान से तुर्की गए थे। उनका शव आज तक नहीं मिला। इस हत्याकांड पर क्राउन प्रिंस ने सार्वजनिक तौर पर कभी कोई बयान नहीं दिया है।

तुर्की के सऊदी वाणिज्य दूतावास में हत्‍या की गई

'द क्राउन प्रिंस ऑफ सऊदी अरब' नामक डाक्यूमेंटरी के अनुसार, मुहम्मद बिन सलमान ने अमेरिकी प्रसारक पब्लिक ब्रॉडकास्टिंग सर्विस (पीबीएस) के मार्टिन स्मिथ से कहा, 'मैं सारी जिम्मेदारी लेता हूं क्योंकि यह मेरी निगरानी में हुआ था।' स्मिथ ने जब उनसे यह पूछा कि आपकी जानकारी के बगैर हत्या को कैसे अंजाम दिया गया? तब उन्होंने कहा, 'हमारे मुल्क की आबादी दो करोड़ है और करीब 30 लाख सरकारी कर्मचारी हैं।'

खशोगी की हत्या में सरकारी विमान के इस्तेमाल के सवाल पर सऊदी प्रिंस ने कहा, 'चीजों का पालन करने के लिए मेरे पास अधिकारी और मंत्री हैं और वे जिम्मेदार हैं। उनके पास यह करने का अधिकार है।' स्मिथ ने बताया कि यह बातचीत कैमरे के सामने नहीं हुई थी।

क्राउन प्रिंस ने दिया था आदेश

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआइए और कई पश्चिमी देशों ने यह दावा किया था कि खशोगी की हत्या का आदेश क्राउन प्रिंस ने दिया था। जबकि सऊदी अरब ने कहा था कि इसमें उनकी कोई भूमिका नहीं थी।

मारे गए पत्रकार जमाल खशोगी से संबंधित खबरें यहां पढ़ें

क्राउन प्रिंस के थे आलोचक

खशोगी अमेरिका में रहते थे और वाशिंगटन पोस्ट के लिए कॉलम लिखते थे। वह क्राउन प्रिंस के धुर आलोचक थे। सऊदी सरकार ने पहले उनकी हत्या होने की बात नहीं मानी, लेकिन दुनियाभर में आलोचना के बाद स्वीकार किया कि दूतावास में उनकी हत्या कर दी गई थी। इस मामले में सऊदी के 11 संदिग्धों को आरोपित किया गया है।

सऊदी पत्रकार का भी इंटरव्यू

डाक्यूमेंटरी में सऊदी पत्रकार खशोगी का भी इंटरव्यू है। यह इंटरव्यू हत्या के कुछ महीने पहले लिया गया था, लेकिन कभी सामने नहीं आया था। इसमें उन्होंने बताया था कि वह कैसे क्राउन प्रिंस के समर्थक से आलोचक बन गए थे।

 इसे भी पढ़ें: अमेरिका: टाइम्स स्क्वायर की New Year Eve Party प्रेस की आजादी को होगी समर्पित

इसे भी पढ़ें: नेटफ्लिक्स की इस वेब सीरीज के एक एपिसोड पर सऊदी अरब में लगा बैन, जानिए- पूरा मामला

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप