बेरूत, एएफपी। सीरिया में आतंकियों ने सरकार समर्थक फौजों और लड़ाकों पर हमले करके बीते 48 घंटों में 60 से ज्यादा हथियारबंद लोगों को मार डाला। सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल असद समर्थकों को हाल के महीनों में हुआ यह सबसे बड़ा नुकसान है। उल्लेखनीय है कि सीरिया के युद्ध में तीन पक्ष एक-दूसरे से लड़ रहे हैं। इनमें सरकार समर्थक और विरोधी लड़ाके और आतंकी संगठन आइएस के लड़ाके शामिल हैं।

मध्य और पूर्वी सीरिया में सरकारी फौजों और लड़ाकों पर हमला
कुर्दो के नेतृत्व वाले विद्रोहियों ने मार्च में पूर्वी सीरिया को आतंकी संगठन आइएस से मुक्त करा लेने का एलान किया था। लेकिन कुछ आतंकी बचे रह गए और उन्होंने नए इलाकों पर कब्जा कर लिया है। इन आतंकियों ने एकजुट होकर गुरुवार को मध्य और पूर्वी सीरिया में सरकारी फौजों और लड़ाकों पर हमले किए। इन हमलों में 35 लोग मारे गए। शनिवार को अल कायदा समर्थक एक अन्य आतंकी गुट ने उत्तर-पश्चिमी इलाके में हमला करके 26 असद समर्थक लड़ाके मार डाले।

हाल के महीनों में यह सबसे बड़ा नुकसान 
सरकार समर्थक फौजों को हाल के महीनों में यह सबसे बड़ा नुकसान है। सीरिया में आठ साल से चल रहे गृह युद्ध पर नजर रख रहे ब्रिटेन के निगरानी दल के प्रमुख रामी अदेल रहमान ने इन हमलों की पुष्टि की है। इस गृह युद्ध में अभी तक करीब पौने चार लाख लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। हजारों करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति का नुकसान हो चुका है। इस युद्ध में रूस के समर्थन से राष्ट्रपति असद 60 प्रतिशत सीरिया पर कब्जा बनाए हुए हैं जबकि बाकी पर अमेरिका समर्थक विद्रोहियों और आतंकी संगठन आइएस का कब्जा है।

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप