दमिश्क, प्रेट्र। विश्‍व में 'जिहादी दुल्हन' के नाम से चर्चित हुई शमीमा बेगम के नवजात पुत्र की मौत हो गई है। बांग्लादेशी मूल की ब्रिटिश युवती ने 2015 में सीरिया जाकर इस्लामिक स्टेट आतंकी संगठन (ISIS) में शामिल होने का फैसला किया था।

इस बारे में सीरियन डेमोक्रिट प्रवक्ता ने बताया कि शमीमा बेगम के नवजात बेटे की खराब स्वास्थ्य के कारण मौत हो गई है। बच्चे का जन्म 17 फरवरी को हुआ था। खराब स्वास्थ्य के चलते बेगम और उसके बच्चे को गुरुवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन जहां उसके बच्चे की मौत हो गई। बच्‍चे को सांस लेने में परेशानी हो रही थी। शुक्रवार को उसके बच्चे को दफनाया गया।

दो सप्ताह पहले ही जन्मे बच्चे का नाम जर्राह था और जन्म के समय से ही निमोनिया से पीड़ित था। बच्चे की गुरुवार को तबीयत बिगड़ने के बाद कुर्दिश रेड क्रीसेंट के मेडिकल स्टाफ ने मां और नवजात शिशु को अल-हॉल शिविर से अल-हसाकाह शहर के मुख्य अस्पताल में भेज दिया था। एनजीओ ने शुक्रवार को बताया कि अस्पताल पहुंचने के कुछ घंटे बाद ही बच्चे की मौत हो गई।

आइएसआइएस में शामिल होने के लिए बेगम लंदन से भागकर सीरिया उस समय पहुंच गई, जब वह महज 15 साल की थी। वह पिछले महीने दुनिया भर में उस समय सुर्खियों में छा गई, जब उसने सार्वजनिक रूप से ब्रिटिश सरकार से उसे आने की अनुमति देने का अनुरोध किया था।

गौरतलब है कि ब्रिटिश सरकार ने उसकी नागरिकता वापस ले ली है। शमीमा बेगम के परिवार के लोग भी उसे ब्रिटेन वापस आने देने की मांग कर रहे हैं।  

Posted By: Arun Kumar Singh