तेहरान, एजेंसियां। ईरानी सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को खाड़ी समुद्र तट पर स्थित बंदर-ए-महशर के नजदीक एक विदेशी ड्रोन को मार गिराया। समाचार एजेंसी इरना ने ईरानी अधिकारियों के हवाले से यह जानकारी दी। ईरान के दक्षिणी खुजेस्तान प्रांत के गवर्नर घोलमरेजा शरीती ने बताया, 'मार गिराया गया ड्रोन निश्चित रूप से विदेशी है। उसका मलबा बरामद कर लिया गया है और उसकी जांच की जा रही है।'

जानकारी के मुताबिक ड्रोन को ईरान निर्मित जमीन से हवा में मार करने वाली 'मरसाद' मिसाइल से निशाना बनाया गया। हालांकि, अभी तक यह जानकारी नहीं मिल सकी है कि यह मिलिट्री ड्रोन था या सिविल ड्रोन और किस देश का था।

इससे पहले ईरान ने जून में एक अमेरिकी सर्विलांस ड्रोन को मार गिराया था। उसका कहना था कि वह ईरानी जलक्षेत्र के ऊपर उड़ान भर रहा था। जबकि अमेरिका का कहना था कि उसका ड्रोन अंतरराष्ट्रीय वायुक्षेत्र में था। इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सेना को हमला करने के लिए अधिकृत कर दिया था, लेकिन आखिरी समय में उन्होंने आदेश वापस ले लिया था।                 

इसके अलावा 14 सितंबर को सऊदी तेल कंपनी 'अरैमको' पर हुए हमले के लिए भी अमेरिका ईरान को जिम्मेदार मानता है। फिलहाल वर्तमान घटना पर अमेरिका ने कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है। जबकि इजरायली सैन्य प्रवक्ता ने कहा, 'हम विदेशी मीडिया की खबरों पर प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं करते।'                      

बता दें कि ईरान और अमेरिका के बीच संबंध पिछले साल उस वक्त खराब हो गए थे जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, ईरान और विश्व शक्तियों के बीच 2015 में हुए समझौते से हट गए थे और ईरान पर फिर से प्रतिबंध लगा दिए थे।          

 

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप