दुबई, प्रेट्र। संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की एक अदालत ने चिकित्सकीय लापरवाही के कारण पत्नी की मौत के लिए भारतीय कामगार जोसेफ अब्राहम को 39 लाख रुपये का हर्जाना देने का आदेश सुनाया है। शारजाह यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में बतौर नर्स कार्यरत जोसेफ की पत्नी ब्लेसी की नवंबर, 2015 में एक प्राइवेट क्लीनिक में मौत हो गई थी।

केरल के कोल्लम की रहने वालीं दो बच्चों की मां ब्लेसी (32) को स्तन संक्रमण की शिकायत पर शारजाह के डॉ सन्नी मेडिकल सेंटर में भर्ती कराया गया था। इस क्लीनिक के भारतीय डॉक्टर दर्शन प्रभात राजाराम पी नारायण ने बिना कोई टेस्ट किए उन्हें एंटीबॉयोटिक इंजेक्शन लगा दिया। दवा के रिएक्शन से वह बेहोश हो गईं। उन्हें तुरंत अल कासिमी अस्पताल ले जाया गया, जहां कुछ घंटे बाद उनकी मौत हो गई। उनकी मौत की वजह कार्डियक अरेस्ट बताया गया जो एलर्जिक रिएक्शन के कारण हुआ था।

ब्लेसी की मौत के लिए उनके परिवार ने अदालत से दस लाख दिरहम के मुआवजे की मांग की थी। अदालत ने अपने फैसले में कहा कि मेडिकल सेंटर और डॉ दर्शन मिलकर दो लाख दिरहम (करीब 39 लाख रुपये) का मुआवजा देंगे।

मामले की जांच से बचने के लिए डॉक्टर दर्शन यूएई से भाग गया था। स्थानीय मीडिया के अनुसार, वह भारत में रह रहा है। जोसेफ परिवार के वकील का कहना है कि मामले में आगे की कार्रवाई के लिए भारतीय चिकित्सा परिषद और इंटरपोल की मदद ली जा रही है।

इसे भी पढ़ें: UAE में पीएम मोदी को सम्मान मिलता देख पाकिस्तानी नेता और जनता में बौखलाहट

इसे भी पढ़ें: यूएई में भारत के अगले राजदूत होंगे पवन कपूर, पिछले 3 साल से इजरायल में रहकर निभाई अहम भूमिका

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप