अदन, रायटर। यमन के पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह ने सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन के साथ समझौते की पेशकश की है। उन्होंने कहा कि सऊदी गठबंधन यमन पर हमले बंद कर दे तो वह उसके साथ नया अध्याय शुरू करने के लिए तैयार हैं। सऊदी गठबंधन ने राष्ट्रपति अब्द-रब्बू मंसूर हादी को हाउती विद्रोहियों द्वारा सत्ता छोड़कर भागने के लिए मजबूर करने के बाद 2015 में यमन में दखल दिया।

सालेह ने यह पेशकश ऐसे समय की है जब उनके समर्थकों ने राजधानी सना में चौथे दिन हाउती लड़ाकों के साथ युद्ध किया। दोनों पक्षों ने गठबंधन में दरार के लिए एक दूसरे पर आरोप लगाए। इन दोनों के संघर्ष से यमन में गृहयुद्ध और जटिल हो सकता है। ईरान समर्थक हाउती और सऊदी समर्थक हादी के बीच संघर्ष के चलते यमन को हाल के वर्षों में सबसे भयंकर मानवीय आपदा का सामना करना पड़ रहा है।

टीवी पर दिए भाषण में सालेह ने कहा कि पड़ोसी देशों और गठबंधन के भाइयों से हमले रोकने, नाकाबंदी हटाने, हवाई अड्डे खोलने और खाद्य सामग्री आने देने की अपील करता हूं। अपने पड़ोसियों के साथ हम सकारात्मक तरीके से काम करेंगे। सऊदी गठबंधन ने उनके बयान का स्वागत किया है।

यह भी पढ़ें:  कार बम धमाके से दहला उत्तरी बगदाद, 21 की मौत

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप