काहिरा, एजेंसी। मिस्र के एक प्राइवेट अस्‍पताल में गहन देखभाल यूनिट में आग लगने से सात कोरोना संक्रमित मरीजों की झुलस का मौत हो गई। मरने वालों में छह पुरुष और एक महिला शामिल है। अस्‍पताल प्रबंधन ने बताया कि मरने वाले सातों मरीज कोरोना संक्रमित थे और उनका गहन देखभाल यूनिट में इलाज चल रहा था। सरकार की ओर से जारी बयान इसकी पुष्टि की गई है।

शॉर्ट सर्किट के कारण अस्‍पताल में आग लगी

नागरिक सुरक्षा विभाग का कहना है शॉर्ट सर्किट के कारण अस्‍पताल में आग लगी। हालांकि, पुलिस अभी मामले की जांच कर रही है। प्रारंभिक रिपोर्ट से यह संकेत मिला है है कि कोरोना वार्ड में आग एयर कंडीशनर के कारण लगी। एयर कंडिशन में यूनिट के फटने की आवाज के बाद नर्सों में अफरातफरी मच गई, लेकिन तब तक आग ने विकराल रूप धारण कर लिया था। कोरोना वार्ड में आग फैल चुकी थी और मरीज धुएं के गुबार में फंस गए। पिछले महीने मिस्र की राजधानी काहिरा के कोरोना वायरस आइसोलेशन सेंटर में इसी तरह का एक विस्फोट हुआ था। हालांकि इस हादसे में किसी की मौत नहीं हुई थी।   

कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्‍या 62,754 के पार

मिस्र में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्‍या 62,754 के पार पहुंच गई है। कोरोना से अब तक 287 लोगों की मौत हो चुकी है। 17,951 कोरोना मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। देश में कुल एक्टिव केस 45,931है। मिस्र में 135,00 लोगों की कोरोना की जांच हो चुकी है। मिस्र ने शनिवार को कई कई प्रतिबंध हटा दिए हैं। देश में कैफे, जिम और क्लबों को फिर से खोल दिया गया है।           

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस