बगदाद, रायटर । protests across Iraq इराक की राजधानी बगदा द में सरकार विरोधी प्रदर्शन के बाद भड़की हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। इराकी सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच रविवार रात भी कई जगहों पर झड़प हुई। इसमें 15 लोगों के मारे जाने की खबर है। गत मंगलवार से भड़की सरकार विरोधी हिंसा में अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 110 पहुंच गई है। इस बीच अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्ियो ने इराकी प्रधानमंत्री आदिल अब्दुल मेहदी से फोन पर बात की और मुल्क में शांति बहाली के लिए सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों का समर्थन किया।

सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार और नौकरियों को लेकर बगदाद में गत मंगलवार को छोटे पैमाने पर शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन कई शहरों में फैल गया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए कई जगहों पर आंसू गैस के गोले दागे और फायरिंग की। इन झड़पों में छह हजार से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। जबकि मरने वालों में आठ सैनिक भी बताए जाते हैं। अब्दुल मेहदी सरकार के खिलाफ यह सबसे बड़ा हिंसक आंदोलन बताया जा रहा है। उन्होंने एक साल पहले प्रधानमंत्री की कुर्सी संभाली थी।

गौरतलब है कि रविवार की सुबह छात्र स्कूल पहुंचे और सरकारी कर्मचारियों ने अपने-अपने दफ्तरों में उपस्थिति दर्ज कराई। यह हालात धीरे-धीरे सामान्य होने का संकेत है, लेकिन राजधानी की सड़कों में आम तौर पर सन्नाटा रहा। बहुत कम लोग आवाजाही करते नजर आए। जगह-जगह जले हुए टायर नजर आ रहे हैं। हालात पर नियंत्रण रखने के लिए सुरक्षा के तगड़े इंतजाम किए गए हैं। हथियारबंद वाहनों से तहरीर चौक का रास्ता ब्लॉक किया गया है। 

वहीं सरकार ने भी इस बीच आपात कैबिनेट बैठक करके 17 सूत्री योजनाओं की घोषणा की है। इनमें गरीबों को आवास पर सब्सिडी, बेरोजगारी भत्ता, युवाओं के लिए प्रशिक्षण तथा मध्यम के कर्ज जैसे ऐलान शामिल हैं।

यह भी पढ़ेंः बगदाद के कई टेलीविजन स्टेशनों पर हमला, अज्ञात बंदूकधारियों ने बनाया निशाना; कई घायल

Posted By: Ramesh Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप