काबुल, रायटर। तुर्की में प्रस्तावित बैठक के दौरान अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी विदेशी नुमांइदों के सामने त्रिस्तरीय शांति प्रस्ताव रखेंगे। प्रस्ताव में तालिबान के साथ समझौते और चुनाव से पहले संघर्ष विराम की मांग शामिल होगी। तुर्की की मेजबानी में होने वाली इस बैठक के लिए वाशिंगटन दबाव डाल रहा है। यह बैठक कब होगी, इस पर अभी अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है। बता दें कि एक मई तक अफगानिस्तान से सभी विदेशी सैनिकों की वापसी के लिए सरकार और तालिबान के बीच समझौता हुआ था, लेकिन ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है।

गनी का यह प्रस्ताव वाशिंगटन द्वारा पेश की गई योजना के विरोध में है। अमेरिका ने तालिबान प्रतिनिधियों को मिलाकर अंतरिम सरकार के गठन के लिए जल्द से जल्द नियम-कानून तय करने के लिए अफगानिस्तान पर दबाव डाला था, लेकिन गनी सरकार इस पर राजी नहीं हुई।

तैयार किए गए शांति प्रस्ताव के तहत पहले चरण में ना केवल राजनीतिक समझौते पर आम सहमति बनाना बल्कि अंतरराष्ट्रीय बिरादरी की निगरानी में संघर्ष विराम शामिल है। दूसरे चरण में राष्ट्रपति चुनाव और तीसरे चरण में संविधान निर्माण जैसी बातें शामिल हैं। सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गनी पहले ही विदेशी राजनयिकों के साथ अपना रोडमैप साझा कर चुके हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021