दुबई (एजेंसी)। अरब प्रायद्वीप के चरमपंथ समूह अलकायदा ने सऊदी अरब के प्रिंस क्राउन मोहम्मद बिन सलमान को उनके पापी परियोजनाओं (धर्म के विरुद्ध) को लेकर चेतावनी दी है। शुक्रवार को एक बुलेटिन जारी करते हुए आलकायदा ने बातें कहीं।

प्रिंस क्राउन मोहम्मद ने सऊदी अरब में रूढ़िवादिता को दरकिनार करते हुए एक नई नीति की तरफ बढ़ रहे हैं।  इसके तहत अरब में सिनेमाघरों को बहाल किया जा रहा है और महिलाओं को सड़कों पर ड्राइव करने की अनुमति दी जा रही है।

बिन सलमान के शासनकाल में अरब देशों से मस्जिदों की जगह सिनेमाघरों का निर्माण कराया है। यमन के जिहादी समूह ने मदद न्यूज बुलेटिन के माध्यम से ये बातें कहीं। बताया जा रहा है कि बुलेटिन की पहचान साइट (SITE) के एक खुफिया समूह ने की है। बयान में यह भी कहा गया कि, "धर्मनिरपेक्षता के नाम पर बिन सलमान ने बेतुकापन के साथ-साथ भ्रष्टाचार और नैतिक अतिक्रमण के लिए दरवाजा खोल दिया है।"

अपने बयान में, सुन्नी जिहादी समूह एक्यूएपी ने मक्का में इस्लाम की सबसे पवित्र स्थल पर डब्ल्यूडब्ल्यूई समारोह के आयोजन की निंदा की। उन्होंने इस समारोह में विदेशी पहलवानों के द्वारा पहने गए कॉस्ट्यूम्स की भी निंदा की। एसआईटी ने उनके बयानों का उल्लेख करते हुए कहा कि वे यहीं नहीं रुके, उन्होंने रात के समय आयोजित गीत संगीत और रंगारंग कार्यक्रम की भी धर्म के विरुद्ध बताया।  

आपको बता दें कि दक्षिणी यमन में इन आतंकी समूहों को संयुक्त राज्य अमेरिका खतरनाक चरमपंथी समूह मानता है और लंबे समय से इन पर ड्रोन अभियान से निशाना बनाता रहा है। यमन में हाल में हुए संघर्ष में करीब 10,000 लोगों की मौत हो गई है जबकि हजारों घायल हुए हैं। इसके अलावा लाखों लोग अकाल से जूझ रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र ने यमन को दुनिया के सबसे बुरे मानवीय संकट के तौर पर चिन्हित किया है।

Posted By: Srishti Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप