तेहरान, एएफपी। ईरान में पोर्ट शहर चाबहार में पुलिस कमांड पोस्‍ट पर हमला हुआ है, जिसमें कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई है। स्‍थानीय मीडिया के मुताबिक, पुलिस कमांड पोस्‍ट पर बम से हमला हुआ, जिसमें काफी लोग घायल भी हुए हैं। मीडिया इसे आतंकी हमला करार दे रही है। वहीं ईरान की आधिकारिक समाचार एजेंसी के मुताबित, बम धमाका पुलिस को टारगेट करते हुए एक कार में किया गया।

खबरों के मुताबिक, ईरान के चाबहार के दक्षिणी बंदरगाह में हुआ ये आत्‍मघाती हमला है। इस हमले में तीन लोगों की मौत हो गई और लगभग 19 लोग घायल हैं। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। हालांकि अभी तक ब्‍लास्‍ट की जिम्‍मेदारी किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है।

बता दें कि चाबहार पोर्ट को भारत, ईरान और अफगानिस्‍तान मिलकर इस्‍तेमाल करते हैं। मई 2016 में भारत, ईरान और अफगानिस्तान ने ट्रांजिट और ट्रांसपोर्ट कॉरिडोर के निर्माण के लिए समझौते पर दस्तखत किए थे। इसके तहत चाबहार बंदरगाह का तीनों देश इस्तेमाल कर सकेंगे। यह ईरान में नौ परिवहन के क्षेत्रीय केंद्र के रूप में होगा। इसके अलावा तीनों देशों से अरबों डॉलर के सामान व यात्रियों की आवाजाही भी हो सकेगी।

भारत ईरान में चाबहार पोर्ट के जरिए इस पूरे इलाके में चीन-पाक के खिलाफ एक मानोवैज्ञानिक बढ़त बना चुका है। पाकिस्तान को बाईपास करते हुए चाबहार पोर्ट पहुंचना भारत के लिए रणनीतिक और राजनीतिक जीत है। मई 2016 में पीएम मोदी की मौजूदगी में इसके लिए ट्राईलेटरल एग्रीमेंट हुआ था। इसके तहत भारत ने पहले चरण के विकास में करीब 85.21 मिलियन डालर का निवेश किया है। इसके अलावा भारत फीस के रूप में ईरान को दस साल में 22.95 मिलियन डालर देगा। इतना ही नहीं ईरान भारत को चाबहार पोर्ट का मैनेजमेंट भी देने को राजी हो गया है। इसका मतलब यह हुआ कि भारत इस पोर्ट का अपने जरूरतों के लिहाज से इस्‍तेमाल कर सकेगा।

Posted By: Tilak Raj