टोक्यो, प्रेट्र। कई ऐसी चीज होती हैं जिनका इस्तेमाल अच्छा और बुरा दोनों होता है। मतलब तय सीमा में इसका इस्तेमाल अच्छा होता है और हद से ज्यादा लत पड़ जाने पर यह बुरा हो जाता है। पोकेमॉन गो एक ऐसा ही गेम है। एक अध्ययन में यह दावा किया गया है कि 40 की उम्र से अधिक के लोगों के लिए यह खेल अच्छा साबित हो सकता है। यह उनकी फिजिकल एक्टिविटी बढ़ाकर उन्हें स्वस्थ रहने में मदद कर सकता है।

जापान में टोक्यो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इस बात पर अध्ययन किया 40 से अधिक उम्र के लोग शारीरिक गतिविधयां कम कर देतें हैं जिससे उन्हें अनियंत्रित रक्तचाप, शुगर आदि बीमारियां घेर लेती हैं। इसलिये इस गेम को खेलने पर उनकी फिजिकल एक्टिविटी बढ़ जाती है। जो कि स्वास्थ्य के प्रति लाभदायक है।

क्या है पोकेमॉन गो
पोकेमॉन गो अमेरिकी कंपनी नियंटिक ने बनाया है। यह एक क्रिएटिव रचना है। यह गेम रियललाइम लोकेशन हंटिंग फीचर की वजह से चर्चा का विषय रहा। इसने रियल व वर्चुअल दुनिया को मिला दिया। प्लेयर को गेम में पोकेमॉन को पकड़ने के लिए वास्तविकता में चलना पड़ता है।

पोकेमॉन गो एप
यह एप एंड्रॉयड और आईओएस पर उपलब्ध है। यह एक फ्री एप है। इस एप में यूजर्स को एक-जगह से दूसरी जगह जाकर पोकेमोन पकड़ने होते हैं। यूजर्स को निंटेंडो फ्रैंचाइजी में से पोकेमोन जमा करने होते हैं। इस एप में मैप और व्यूफाइंडर दिया गया है जिससे यूजर्स को पोकेमोन को पकड़ने और उन्हें ढूंढने में मदद मिलती है।

Posted By: Sanjay Pokhriyal