टोक्यो, एएफपी। जापान सरकार ने देशभर के मेडिकल कॉलेज में महिलाओं के साथ हो रहे भेदभाव की जांच के आदेश दिए हैं। सरकार ने यह कदम टोक्यो मेडिकल यूनिवर्सिटी द्वारा प्रवेश परीक्षाओं में महिलाओं को कम नंबर दिए जाने की बात सामने आने के बाद उठाया है।

यूनिवर्सिटी महिलाओं को दाखिला देने से रोकने के लिए ऐसा कर रही थी। यूनिवर्सिटी के अधिकारियों का कहना है कि महिलाएं शादी के बाद नौकरी छोड़ देती हैं। इसी वजह से कॉलेज में उनकी संख्या 30 फीसद या उससे कम रखने की कोशिश की जाती है। यह बात सामने आने पर देश की जनता खासकर महिलाओं का गुस्सा फूट पड़ा।

शिक्षा मंत्रालय ने 81 निजी और सरकारी मेडिकल कॉलेजों को अपनी प्रवेश प्रक्रिया की जांच का आदेश दिया है। पिछले छह माह में प्रवेश परीक्षा में सफल रहे छात्रों के लिंगानुपात का भी ब्योरा तलब किया गया है। कॉलेजों के जवाब संतोषजनक नहीं होने पर मंत्रालय खुद उनकी जांच करेगी। न्यायमंत्री योको कामिकावा ने कहा, किसी भी हालत में महिलाओं के साथ भेदभाव बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

By Ravindra Pratap Sing