टोक्‍यो, रायटर्स। जापान ने अपने नागरिकों को चीन से वापस बुला लिया है। साथ ही कोरोना वायरस का संक्रमण देश में न फैले इसे लेकर हाई अलर्ट जारी कर दिया है। सरकार की पांचवीं चार्टर्ड विमान से 65 जापानी नागरिक वुहान से टोक्‍यो वापस पहुंच गए हैं। चीन के बाद कोरोना वायरस से सबसे अधिक संक्रमित देश जापान है।

जापान और चीन के बीच होने वाले FIBA  एशिया कप 2021 की तारीख आगे बढ़ा दी गई है जो अगले सप्‍ताह टोक्‍यो के पास चीबा (Chiba) में होनी थी। वायरस के प्रसार को रोकने को लेकर कंपनियां एहतियात वाले कई कदम उठा रही है। लोगों के बीच ऐसे मामलों में इजाफा हो रहा है जबकि ये वैसे लोगों का समूह है जो न तो चीन गए और न ही उन लोगों के संपर्क में है जो संक्रमित हैं। जापान की बड़ी कंपनियों में से एक निप्‍पोन टेलीग्राफ (Nippon Telegraph) और टेलीफोन कॉर्प (Telephone Corp) ने बताया कि उन्‍होंने अपने स्‍टाफों को घर से काम करने का आग्रह किया है। शुक्रवार को NTT Data Corp ने बताया कि इसका एक स्‍टाफ कोरोना वायरस मामले में संक्रमित पाया गया। कंपनी ने पीड़ित के सपंर्क में आने वाले 14 कर्मचारियों को घर से काम करने का निर्देश दिया है।

कोरोना वायरस के फैले संक्रमण के कारण जापान की पर्यटन व्यवस्था को नुकसान पहुंच रहा है। मामले को देखते हुए अलग रखे गए सैंकड़ों यात्री क्रूज शिप के जरिए दो सप्तााह के बाद ही वापस लौट रहे हैं। कनाडा, दक्षिण कोरिया, हांग कांग और इटली भी अमेरिका की तरह अपने नागरिकों को वापस ला रहे हैं। इसके अलावा जापान में 1 मार्च को होने वाला दुनिया का सबसे बड़ा मैराथन भी टल सकता है। टोक्यो मैराथन के आयोजकों ने इस साल के रेस में हिस्सा  लेने वालों की संख्या सीमित करने पर विचार करना शुरू कर दिया है। यह जानकारी अशाही न्यूजपेपर (Asahi newspaper) ने दी है। 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस