टोक्यो, एएनआइ। सेंट्रल जापान में गर्वनर ने गुरुवार को कोरोना वायरस से  संक्रमण के मामलों में बढ़त के बाद इमरजेंसी का ऐलान किया है और कहा है कि बिजनेस व लोग अपनी गतिविधियों को रोक दें विशेषकर आने वाले हॉलीडे के दौरान। ऐकी प्रिफेक्चर (Aichi prefecture) में मध्य जुलाई से हर दिन नया मामला सामने आ रहा है। इस प्रिफेक्चर के अंतर्गत नागोया और जापान के टॉप ऑटोमेकर टोयोटा मोटर कार्पोरेशन का मुख्यालय है। 

गवर्नर हिडियाकी (Hideaki Ohmura) ने पत्रकारों से कहा कि सभी बिजनेस को बंद करने को कहा जा रहा है साथ ही लोगों को भी रात में घर के भीतर ही रहने को कहा गया है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। आयोजनों से बचें। हालात काफी गंभीर है।' ओहमुरा ने कहा,'ओबोन त्योहार के मौके पर गैर जरूरी गतिविधियों से परहेज करें। हाल में सामने आए करीब 70 फीसद मामले 30 या इससे अधिक उम्र वाले युवकों में है वो भी बिना लक्षण या हल्के लक्षण के साथ।'

जापान में लॉकडाउन नहीं था। अप्रैल में ऐच्छिक तौर पर इमरजेंसी के नियम लागू किए गए थे और लोगों ये बिजनेस बंद करने और शारीरिक दूरी का ध्यान रखने को कहा गया। बाद में ये सब भी हटा लिया गया। पिछले सप्ताह दक्षिण पश्चिम आइलैंड प्रीफैक्चर ओकिनावा ने भी स्थानीय इमरजेंसी का ऐलान किया था। 

इससे पहले हिरोशिमा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रधानमंत्री शिंजो एबी ने कहा कि देश में दोबारा इमरजेंसी की जरूरत नहीं। हालांकि उन्होंने अगले सप्ताह होने वाले जापान के बोन (Obon ) समर हॉलीडे को लेकर चिंता प्रकट की जो संक्रमण के मामले में वृद्धि कर सकता है। इस दौरान एयरपोर्टों, हाइवे और बुलेट ट्रेनों में आम तौर पर इस दौरान सीट नहीं होती क्योंकि जापानी अपने रिश्तेदारों के पास छुट्टी मनाने जाते हैं। 

प्रधानमंत्री ने लोगों से  एहतियात  बरतने की अपील की है और '3 Cs'  से बचने को कहा है,  3 Cs यानि बंद जगहों ( closed spaces), भीड़ भाड़ (crowded places) व करीबी संपर्क (close-contact)।  भीड़ भाड़ व सामूहिक अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, जापान में अब तक 42 हजार 700 संक्रमण के मामले हैं और करीब 1000 लोगों की मौत हो चुकी है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस