नई दिल्ली [ जेएनएन ]। दक्षिण-पूर्व एशिया के तीन मुल्‍कों की यात्रा के तीसरे चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिंगापुर पहुंचे। एयरपोर्ट पर मोदी का स्‍वागत किया गया। यहां रह रहे भारतीय समूहों ने भी सिंगापुर की धरती पर प्रधानमंत्री का अभिनंदन किया।

गुुरुवार की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर पहुंचे और यहां के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद के साथ अहम बैठक की। दोनों समकक्ष नेता एक दूसरे से बहुत गर्मजोशी से मिले। प्रधानमंत्री मोदी ने इस मुलाकात पर प्रसन्‍नता जताई। संभावना जताई जा रही है कि इस मुलाकात के दौरान दोनों देशों के नेता व्यापार एवं निवेश सहित विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय रिश्ते गहरे करने के उपायों पर विचार किया।

दक्षिण-पूर्व एशिया के तीन मुल्‍कों की यात्रा पर निकले मोदी इं‍डोनेशिया की सफल यात्रा के बाद गुरुवार की सुबह मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर पहुंचे। कुआलालंपुर एयरपोर्ट पर मोदी का भव्‍य स्‍वागत किया गया। यात्रा के प्रथम चरण में इंडोनेशिया में मोदी और राष्ट्रपति विडोडो के बीच द्वपक्षीय वार्ता हुई और 15 समझौतों पर भी हस्ताक्षर हुए हैं।

PM मोदी की मलेशिया की यह दूसरी यात्रा
संभावना जताई जा रही है कि इस मुलाकात के दौरान दोनों देशों के नेता व्यापार एवं निवेश सहित विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय रिश्ते गहरे करने के उपायों पर विचार किया। खास बात है कि मोदी की मलेशिया की यह दूसरी यात्रा है। इससे पहले वह 2015 में भी मलेशिया जा चुके हैं।

बता दें कि तीन देशों की यात्रा पर निकले प्रधानमंत्री का उद्देश्य रक्षा और व्यापार सहित विभिन्न महत्वपूर्ण क्षेत्रों में भारत के रिश्तों को और अधिक मधुर व मजबूत करना है। इसके पूर्व विदेश मंत्रालय ने कहा था कि पीएम मोदी  मलेशिया के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री डॉ महातिर मोहम्मद से मिलने के लिए 31 मई को कुआलालंपुर में रुकेंगे। मोदी मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर से पटाया में मुलाकात करेंगे। पटाया कुआलालंपुर से तकरीबन 30 किलोमीटर दूर स्थित है।

मलेशिया के साथ रहा भारत का रहा ऐतिहासिक रिश्‍ता
भारत और मलेशिया के बीच मधुर संबंध्‍ा रहे हैं। दोनों देशों के बीच काफी ऐतिहासिक रिश्ते रहे हैं। मलेशिया भारतीयों का लंबे समय तक गढ़ रहा है। यहां कुल सात फीसद अप्रवासी भारतीय रहते हैं। व्यापार की दृष्टि से देखें तो दोनों देशो के बीच 10.5 बिलियन यूएस डॉलर का बिजनेस 2017 में हुआ। अनुमान है कि 2020 तक 25 बिलियन डॉलर तक पहुंच सकता है। मोदी मलेशिया के बाद सिंगापुर के लिए रवाना होंगे, यहां वह होटेल फुलर्टन में रुकेंगे।

महातिर मोहम्मद की ऐतिहासिक जीत
महातिर मोहम्मद (92) ने 10 मई को मलेशिया के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी। उन्होंने मलेशिया में 1957 से शासन कर रहे बारिसान नेशनल (बीएन) गठबंधन को चुनाव में परास्त करने वाले विपक्षी गठजोड़ का नेतृत्व किया था, जिसका मलेशिया पर आजादी के बाद से 61 वर्ष तक राज रहा। उन्होंने मलेशिया की संसद में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में सफलता हासिल की, कुल 222 सीटों में से उनकी पार्टी को 122 सीटों पर जीत मिली।

प्रथम चरण में इंडोनेशिया पहुंचे मोदी

इसके पूर्व दक्षिण-पूर्व एशिया के तीन मुल्‍कों की यात्रा पर प्रथम चरण में प्रधानमंत्री मोदी ने इंडोनेशिया की आज़ादी के संघर्ष के शहीदों को श्रद्धांजलि देकर अपनी यात्रा की शुभारंभ किया। उन्होंने यहां कलीबाता नेशनल हीरोज सिमेट्री में शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित की।

15 एमओयू पर हुए दस्तख़त

राष्ट्रपति जोको विदोदो से मुलाकात और डेलीगेशन स्तर की बैठक के बाद पीएम मोदी 'पतंग प्रदर्शनी' पहुंचे और महोत्सव का उद्घाटन किया। बैठक में रक्षा, विज्ञान, तकनीक, रेल और स्वास्थ्य के क्षेत्र में भारत इंडोनेशिया के बीच 15 एमओयू पर हस्ताक्षर हुए हैं।

कुंभ मेले के लिए निमंत्रण

मोदी ने कहा कि इंडोनेशियन नागरिकों को यात्रा करने के लिए मुफ्त वीजा मिले। उन्होंने कहा कि आप में से कई लोगों ने भारत नहीं देखा होगा। आप सभी को अगले साल प्रयाग में होनेवाले कुंभ मेले में आने का निमंत्रण देता हूं। इस मौके पर मोदी पतंग महोत्सव उद्घाटन के दौरान पतंगबाजी करते भी दिखे। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति के साथ पीएम मोदी ने पतंग उड़ाई।

By Ramesh Mishra