जकार्ता, एएफपी। भीषण भूकंप से तबाह हुए इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप की जेलों से करीब 1,200 कैदी फरार हो गए हैं। बीते शुक्रवार को 7.5 तीव्रता के भूकंप के बाद आई सुनामी से समुद्र में छह मीटर ऊंची लहरें उठी थीं। इस प्राकृतिक आपदा में अब तक आठ सौ से ज्यादा लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है। मृतकों की संख्या और बढ़ने की आशंका जताई गई है क्योंकि भूकंप के चार दिन बाद भी अभी ऐसे कई प्रभावित इलाके हैं जहां बचाव टीमें पहुंच नहीं पाई हैं।

न्याय मंत्रालय की अधिकारी श्री पी उतमी ने सोमवार को कहा, 'भूकंप के दौरान पालू और डोंगला शहर की जेलों से बड़ी संख्या में कैदी फरार हो गए। मुझे लगता है कि वे भूकंप के डर से फरार हुए क्योंकि उन्हें इस बात का डर था कि वे भी भूकंप की चपेट में आ सकते हैं। इन जेलों में क्षमता से अधिक कैदी थे। फरार हुए कैदियों में ज्यादातर भ्रष्टाचार और ड्रग्स तस्करी के मामलों में सजा काट रहे थे।'

सेटेलाइट तस्वीरों में दिखी भारी तबाही

सेटेलाइट से मिली तस्वीरों से तटीय इलाकों में भारी तबाही का पता चला है। हर तरह ध्वस्त इमारतें, पुल और सड़कें दिखीं। समुद्र के किनारों पर उलटे पड़े जहाज और कंटेनर दिखाई दिए। इंडोनेशिया की बचाव टीम ने कहा कि 80 कमरों वाले रोआ-रोआ होटल से दो लोगों को जिंदा बचाया गया है। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने अंतरराष्ट्रीय मदद की अपील करते हुए कहा, 'हमने राहत और बचाव अभियान में मदद के लिए अंतरराष्ट्रीय सहायता एजेंसियों और एनजीओ के लिए दरवाजे खोल दिए हैं।'

Posted By: Manish Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस