वाशिंगटन, एएफपी। अमेरिका और चीन के बीच जारी टकराव थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन को कर्ज देने पर विश्‍व बैंक की निंदा की है। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि विश्‍व बैंक चीन को धन क्यों दे रहा है जबकि चीन के पास बहुत पैसा है। यदि चीन के पास पैसा नहीं है तो भी इसका इंतजाम वह खुद करेगा। ट्रंप ने कहा कि विश्‍व बैंक द्वारा ऐसा नहीं किया जाना चाहिए।

दूसरी ओर ट्रंप के वित्त मंत्री स्टीवन मेनुचिन ने भी विश्‍व बैंक की आलोचना की है। उन्‍होंने एक प्रतिनिधि सभा की समिति को बताया कि अमेरिका ने चीन में विश्‍व बैंक के कर्ज वाली परियोजनाओं पर एतराज जताया है। दूसरी ओर अमेरिका में अपने राजनयिकों पर बंदिशें लगाए जाने के बाद चीन ने भी जवाबी कार्रवाई की है। उसने अपने यहां अमेरिकी राजनयिकों पर कई तरह की पाबंदियां लगा दी हैं।

चीन ने शुक्रवार को बताया कि उसने अमेरिकी राजनयिकों के खिलाफ कई कदम उठाए हैं। उन्हें स्थानीय अधिकारियों से मिलने से पहले अब विदेश मंत्रलय को सूचित करना होगा। अमेरिका ने भी गत अक्टूबर में चीनी राजनयिकों को आदेश दिया था कि वे अमेरिका में किसी अधिकारी से मिलने और किसी कॉलेज या रिसर्च इंस्टीट्यूट में जाने से पहले विदेश मंत्रलय को सूचित करेंगे।

विदेश मंत्रलय की प्रवक्‍ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि चीन ने नए उपायों के बारे में अमेरिकी दूतावास को बुधवार को सूचित कर दिया है। यह कदम चीनी राजनयिकों पर अमेरिकी पाबंदियों के जवाब में उठाया गया है। हम फिर यह आग्रह करते हैं कि अमेरिका अपनी गलतियों को सुधार ले और नियमों को रद कर दे।’ अमेरिका ने चीन के इस कदम को पारस्परिक करार दिया। ऐसे में माना जा रहा है कि हाल फ‍िलहाल में अमेरिका और चीन के बीच का टकराव थमने वाला नहीं है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021