बीजिंग, एजेंसी । टाइफून लीकिमा ने चीन में व्‍यापक पैमाने पर तबाही मचा रखी है। इससे 32 से अधिक लोगों की मौत हाे चुकी है। 60 लाख चीनी ना‍गरिक लीकिमा से प्रभावित हैं। चीन के कई तटीय प्रांतों झिंजियांग, फुजियान, जिआंग्‍सु और शंघाई  में इसका सर्वाधिक असर देखने को मिला है। 

लीकिमा से चीन में जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। चीन सरकार ने अब तक 32 लोगों की मौत की पुष्टि की है, दर्जनों लोग अभी लापता है। दस लाख से अधिक लोग कई शिविरों में अब भी शरण लिए हुए हैं। 35 हजार लोग बेघर हो गए हैं। उनके आवास या क्षतिग्रस्‍त हो गए है या फ‍िर बाढ़ में उनका अस्तित्‍व ही समाप्‍त हो गया है। लीकिमा के चलते तटीय इलाकों में भूस्‍खलन की घटनाएं हुई हैं। पूरे इलाके में मूसलाधार बारिश के साथ तेज हवाएं चलने से तटीय इलाकों में हजारों पड़ों जड़ से उखड़ गए हैं। 

शुक्रवार को चीन के राष्‍ट्रीय मौसम विभाग ने तटीय इलाकों में रहने वालों लोगों के लिए चेतावनी जारी किया था। चेतावनी के कुछ घंटों बाद ही टाइफून चीन के झिंजियांग प्रांत में पहुंच गया और अगले 24 घंटों में इसने चीन के कई तटीय प्रांतों में जमकर कहर बरपाया। भारी तबाही को देखते हुए राष्‍ट्रीय मौसम विज्ञान ने शनिवार को भी झिंजियांग प्रांत में आरेंज अलर्ट जारी किया था। बता दें कि झिंजियांग प्रांत के लोगों को इस वर्ष नौ बार प्राकृतिक आपादा का सामना करना पड़ा है।

हालांकि, चीन सरकार ने अलर्ट जारी होते ही प्रभावित इलाके का खाली करा लिया था। राज्‍य में ट्रेन और हवाई यात्राओं को स्‍थगित कर दी गई थीं। नौका सेवाओं को रद कर दिया गया था। जहाजों को पोर्ट पर लौटने को कहा गया है। इसके साथ यहां 200 पर्यटकों को बीजी द्वीप से निकाल कर सुरक्षित स्‍थानों पर भेज दिया गया है। 

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ramesh Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप