बीजिंग, रायटर। पूरे विश्व को कोरोना महामारी देकर सबसे पहले वैक्सीन तैयार करने वाले चीन में ही कई स्थान पर अब वैक्सीन की कमी हो रही है। यहां जनता वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने के लिए परेशान हो है। यह जानकारी सरकारी मीडिया ने दी है। चीन में पिछले कुछ दिनों से अचानक वैक्सीन की उपलब्धता में कमी आई है। जून तक सप्लाई सामान्य होने की जानकारी दी जा रही है। सरकार पिछले सात दिनों से हर रोज 33 लाख वैक्सीन के डोज लगवा रही है। पहले यह संख्या 43 लाख थी। वैक्सीनेशन की योजना देखने वाले झेंग झोंगवे ने ग्लोबल टाइम्स को बताया कि वर्तमान में घरेलू उपयोग के लिए वैक्सीन डोज में कुछ कमी आई है।

यह कमी मई या जून के तक दूर कर ली जाएगी। झेंग ये नहीं बता सके कि वैक्सीन की यह कमी क्यों हो रही है और किन-किन स्थानों पर वैक्सीन की कमी चल रही है। जिन स्थानों पर वैक्सीन की कमी है, वहां पर दूसरी डोज लेने वालों को ज्यादा दिक्कत हो रही है। चीन में पहली डोज के आठ सप्ताह के बाद दूसरी डोज लगाई जा रही है।

चीन में कोरोना की स्थिति

भारत, नेपाल, बंगलादेश, जर्मनी, अर्जेंटीना, मंगोलिया समेत कई देशों में कोरोना महामारी की दूसरी लहर चरम पर है। भारतीय स्वास्थय मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में देश भर में 2,95,000 से अधिक कोरोना के नये मामले दर्ज हुए, जो लगातार चौथे तक दैनिक नये मामलों की संख्या 2 लाख के पार है।लेकिन विश्व की सबसे बड़ी आबादी वाले देश चीन में कोरोना के नियंत्रण की स्थिति बहुत अच्छी बनी हुई है, जो विश्व भर में अग्रसर है। चीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार की सुबह जानकारी दी कि अब मुख्य भूमि में सिर्फ 315 सक्रिय मामले बने हुए हैं, जिनमें 241 मामले बाहर से आये हैं। ऐसे में कहा जा सकता है चीन में कोरोना काबू में है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप