बीजिंग, जागरण स्‍पेशल। किसी पुल को देख कर आपके मन में एक सवाल उठना लाजमी है कि आखिर दुनिया का सबसे बड़ा ब्रिज कौन सा है। आइए हम आपको बताते हैं दुनिया के बड़े पुलाेें के बारे में। खासकर उस ब्रिज के बारे में जिसके निर्माण के साथ ही ब्रिजों की ऊंचाई का वरियता क्रम भी बदल जाएगा। 

जी हां, 2019 में इस वरियता क्रम को बदलने में चीन के इंजीनियर जी जान से जुटे हैं। अब तो लगभग कार्य पूरा होने के करीब है। अब चीन का पिंगटांग ब्रिज (Pingtang Bridge) दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ब्रिज बनने की कगार पर है।  इस ब्रिज की दुर्लभ फोटो के लिए शिन्हुआ / ताओ लियांग का साभार।

जाने क्‍या है ब्रिज की खासियत  

1- यह ब्रिज दुनिया के तीन सबसे ऊंचे टॉवरों पर समर्थित है। हर टॉवर की ऊंचाई अलग-अलग है। सबसे ऊंचा टॉवर 328 मीटर है। इसके साथ दूसरा टॉवर 320 मीटर और तीसरा टॉवर 298 मीटर है। 

2- चीन का यह ब्रिज काओदु नदी के पुल को पार करने के बाद पड़ता है। इसे स्‍थानीय लोग कैडोहे का पुल कहते हैं। यह इलाका एक ऊंचा पहाड़ी क्षेत्र है। चीन के हुनान प्रांत में चिशी ब्रिज के विपरी त इसमें एक मल्‍टी स्‍पैल केबल को डिजाइन किया गया है।

3- यह शानदार Daxiaojing Bridge है, जिसमें 2019 में पूरा होने पर गुइझोऊ का सबसे लंबा मेहराब 450 मीटर का होगा।

4- पिंगटांग ब्रिज जिसकी लंबाई 2135 मीटर है। यह दुनिया का सबसे ऊंचे कंक्रीट बिज टॉवर का निर्माण करता है। यह पुल 7000 फीट यानी 2100 मीटर की लंबाई वाला मल्‍टी स्‍पैन केबल स्‍टे ब्रिज है। यह पुल दुनिया का दूसरा सबसे ऊंचा होगा।

1- ड्युज ब्रिज: चीन के गुइझोउ और युन्‍नान प्रांत के बीच सीमा पर निर्मित एक केबल-स्‍टे ब्रिज है। 2016 में इस पुलिस का निर्माण कार्य पूरा हुआ तब यह ब्रिज दुनिया का सबसे बड़ा पुल है।  

सिडू रिवर ब्रिज (सिदुहे ब्रिज) : 1,222 मीटर लंबा पुल है। यह पीपुल्‍स रिपब्लिक ऑफ चइना के हूबेई प्रांत के बडोंग काउंटी में यंगुआंगन के पास सिदु नदी की घाटी को पार करता है। 

Posted By: Ramesh Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप