बीजिंग, रायटर्स। भले ही कोरोना के खिलाफ चीनी वैक्सीन लगवाने के दो दिन बाद ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कोरोना संक्रमित हो गए हों, लेकिन देश में टीकाकरण में तेजी आई है। इसका नतीजा ये है कि चीन में एक हफ्ते में एक करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई गई है। चीनी अधिकारियों ने बताया कि एक हफ्ते में एक करोड़ लोगों को कोरोना की खुराक दी गई है। इसके साथ ही देश में टीकाकरण और वायरस की स्थिति को देखते हुए वीजा नीतियों में भी बदलाव किए गए हैं। बता दें कि पिछले दिनों चीन की तरफ से जारी एक नोटिफिकेशन में कहा गया था कि दूसरे देशों से आने वाले नागरिकों को देश में आने के लिए चीनी कोरोना वैक्सीन लेना आवश्यक है। चीन की तरफ से यह नोटिफिकेशन भारत समेत 20 देशों के लिए जारी किया गया था।

शीर्ष स्वास्थ्य सलाहकार माइ फेंग ने शनिवार को एक न्यूज ब्रीफिंग के दौरान बताया कि देश में कल तक सात करोड़ 49 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी हैं। उन्होंने बताया कि 14 मार्च तक छह करोड़ 49 लाख तक वैक्सीन का प्रबंधन किया गया था। यानी एक हफ्ते में एक करोड़ डोज दी गई हैं। स्वास्थ्य सलाहकार ने बताया कि चीन का लक्ष्य है कि एक अरब 40 करोड़ आबादी में से 40 फीसद लोगों को साल के मध्य तक वैक्सीन दे दी जाएगी।

ताइवान के 67 फीसद लोगों ने चीनी वैक्सीन लगवाने से किया मना

ताइवान की 67 फीसद आबादी ने कहा है कि अगर उनका देश चीन से कोरोना वैक्सीन आयात करता है तो वह इसे नहीं लगवाएंगे। वहीं, 24.3 फीसद लोगों ने वैक्सीन लेने की हामी भरी है। एक सर्वे के दौरान 67 फीसद लोगों ने जहां इसको नहीं लेने की बात कही है वहीं 27.1 फीसद लोगों ने बिल्कुल नहीं लेने और 39.9 फीसद लोगों ने किसी भी कीमत पर नहीं लेने की बात कही है।