बीजिंग, प्रेट्र। चीन में एक फ्रोजन फूड पैकेट पर जिंदा कोरोना वायरस पाया गया है। चीन के स्वास्थ्य प्राधिकरण ने किंगदाओ शहर में फ्रोजन फूड की बाहरी पैकेजिंग पर जिंदा कोरोना वायरस का पता लगाने और उसे अलग करनेकी पुष्टि की है। चीनी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने शनिवार को एक बयान में कहा कि चीन में पहली बार जिंदा कोरोना वायरस कोल्ड-चेन फूड की बाहरी पैकेजिंग से अलग किया गया है। चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने निष्कर्ष निकाला है कि फ्रोजन फूड के बाहरी पैकेजिंग से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा है।

दरअसल, कोरोना वायरस पर हर रोज नई जानकारियां सामने आ रही हैं। अब चीन में विदेश से आयातित समुद्री मछलियों की पैकिंग पर कोरोना वायरस मिला है। विश्व में यह पहला मामला है, जब फ्रोजन फूड की पैकिंग पर सक्रिय कोरोना वायरस मिला है। चीन की डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन सेंटर (सीडीसी) ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा, ये डिब्बाबंद मछलियां चिंगदाओ के बंदरगाह पर उतरी थीं। हाल ही में यहां पर कोरोना के नए केस मिले हैं। चीन ने चिंगदाओ में रहने वाले सभी एक करोड़ दस लाख लोगों की टेस्टिंग कराई है। टेस्टिंग में अब तक नए केस नहीं मिले हैं।

कोल्ड चेन फूड की पैकिंग पर वायरस मिलने की जानकारी उस समय मिली, जब कोरोना के कुछ केस आने पर वायरस के स्रोत की जानकारी की जा रही थी। ये नहीं बताया गया है कि मछलियों का आयात कहां से किया गया है। सीडीसी ने दावा किया है कि चीन के अंदरूनी बाजार में आपूर्ति किए जाने वाले खाने के सामान में संक्रमण की संभावना बहुत कम है। पूरे देश में सितंबर से अब तक खाने और खाने की पैकिंग केवल 22 नमूने वायरस के लिए पॉजिटिव पाए गए हैं।

क़िंगदाओ शहर जहां COVID-19 मामलों का एक नया समूह हाल ही में रिपोर्ट किया गया था। यहां सभी 11 मिलियन लोगों को कोरोना वायरस टेस्ट कराया गया है। स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि कोरोना की जांच के बाद यहां कोई भी नया मामला सामने नहीं आया है। जुलाई में चीन ने पैकेजों पर घातक वायरस और एक कंटेनर की आंतरिक दीवार के पाए जाने के बाद फ्रोजन झींगे के आयात को निलंबित कर दिया था। सीडीसी ने कहा कि इसने क़िंगदाओ में आयातित जमे हुए कॉड की बाहरी पैकेजिंग पर जीवित वायरस का पता लगाया और अलग किया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने सीडीसी के बयान के हवाले से कहा है कि शहर में हाल ही में सामने आए संक्रमणों के स्रोत का पता लगाने के लिए जांच के दौरान यह खोज की गई। यह साबित कर दिया है कि जीवित कोरोना वायरस द्वारा दूषित पैकेजिंग के संपर्क में आने से संक्रमण हो सकता है।

हालांकि, बयान में उस देश का उल्लेख नहीं किया गया है जहां से पैकेज आयात किया गया था। एजेंसी ने कहा कि चीन के बाजार में कोल्ड-चेन फूड सर्कुलेटिंग का खतरा कोरोनो वायरस द्वारा दूषित हो रहा है, यह व्यवसाय से लिए गए नमूनों के हालिया न्यूक्लिक एसिड परीक्षण परिणामों का हवाला देते हुए बहुत कम है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस