बीजिंग, एजेंसी । चीन के वुहान में सबसे पहले सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (सार्स) रोगाणु जैसे रहस्यमय कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था। इस वायरस का अभी कोई ज्ञात उपचार नहीं है। सांस संबंधी दूसरी बीमारियों की तरह ही बुखार, खांसी और सांस लेने में दिक्कत इस संक्रमण के लक्षण हैं। यह न्यूमोनिया का कारण भी बन सकता है।

सांप से इंसानों में वायरस पहुंचने का अंदेशा

समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार, चीन के पेकिंग यूनिवर्सिटी हेल्थ साइंस सेंटर के शोधकर्ताओं के अनुसार, नए प्रकार के कोरोना वायरस के सांप से इंसानों में पहुंचने का अंदेशा है। जबकि चीनी अकादमी ऑफ साइंसेज की ओर से कराए गए एक दूसरे अध्ययन का दावा है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति चमगादड़ या सांप से हो सकती है।

चीन से लेकर अमेरिका तक वायरस का प्रकोप, अब तक 17 की मौत

सांस लेने में परेशानी का कारण बनने वाला यह वायरस चीन के कई शहरों को अपनी चपेट में लेने के बाद अमेरिका तक पहुंच गया है। चीन में इस वायरस के प्रकोप से अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 600 लोग संक्रमित बताए जा रहे हैं।

वुहान में चार हजार मामलों का अनुमान

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बुधवार तक कोरोना वायरस संक्रमण के 571 मामलों की पुष्टि की। लेकिन इंपीरियल कॉलेज लंदन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अकेले वुहान में वायरस संक्रमण के करीब चार हजार मामले होने का अनुमान है।

ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी पर विचार कर रहा डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी घोषित करने पर जल्द निर्णय लिया जाएगा। इस तरह की घोषणा होने पर कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय प्रयास तेज कर दिए जाएंगे।

भारत समेत पूरी दुनिया में एयरपोर्ट पर हो रही जांच

कोरोना वायरस की रोकथाम के प्रयास में भारत समेत लगभग पूरी दुनिया के एयरपोर्ट पर चीन से आने वाले यात्रियों की जांच की जा रही है। ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन समेत कई देशों ने अपने नागरिकों को वुहान नहीं जाने की सलाह दी है।

कोरोना वायरस के लक्षण

इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खरास जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं। वहीं दूसरी ओर, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने अथवा उसे कम करने के लिए कुछ एहतियात बरतने को कहा है, जिसे संयुक्त राष्ट्र ने भी ट्वीट किया है। ट्वीट में कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को कम करने के उपाय बताए गए हैं।

कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने के लिए निम्न उपाए किए जा सकते हैं

1. अपने हाथ साबुन और पानी या अल्कोहल युक्त हैंड रब से साफ करें।

2. खांसते या छींकते वक्त अपनी नाक और मुंह को टिश्यू या मुड़ी हुई कोहनी से ढकें।

3. जिन्हें सर्दी या फ्लू जैसे लक्षण हों, उनके साथ करीबी संपर्क बनाने से बचें।

4. मीट और अंडों को अच्छे से पकाएं।

5. जंगल और खेतों में रहने वाले जानवरों के साथ असुरक्षित संपर्क न बनाएं।

 

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस