शंघाई [  एजेंसी ]। चीन के नेता शी जिनपिंग ने व्यापार युद्ध को रोकने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को गाजर की पेशकश की है, जिसने चीनी अर्थव्यवस्था में तेज मंदी में योगदान दिया है। उधर, उत्‍तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन एक बार फिर चीन के दौरे पर हैं। उत्‍तर कोरिया नेता  किम जोंग-उन की चीनी अर्थव्‍यवस्‍था की चिंता को लेकर अमेरिका पूरी तरह से सजग है। उन की चीनी यात्रा पर अमेरिका की पैनी नजर है।

बता दें कि किम जोंग-उन मंगलवार को बीजिंग में ट्रेन से पहुंचे। चीन और संयुक्त राज्य अमेरिका से व्यापार वार्ताकारों के बीच बातचीत के दूसरे दिन के दौरान जिनपिंग से मिलने पहुंचे। उधर, किम जोंग-उन की इस यात्रा में इस तरह की अटकलें तेज हो गई हैं कि किम और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की भी जल्‍द ही दूसरी शिखर बैठक हो सकती है। इसके लिए हवाई, बैंकॉक जैसी जगहों के नाम सामने आ रहे हैं। हालांकि, इस बारे में अभी औचारिक तौर पर कुछ भी नहीं कहा गया है। उन की चीनी यात्रा से एक बार फ‍िर अंतरराष्‍ट्रीय राजनीति गरमा गई है।

 

किम के चीन दौरे के बाद अमेरिकी राष्‍ट्रपति से उनकी जल्‍द मुलाकात की अटकलें इसलिए भी लगाई जा रही हैं, क्‍योंकि पिछले साल जून में सिंगापुर में अमेरिकी राष्‍ट्रपति से मिलने से पहले भी किम ने चीन का दौरा किया था। दोनों नेताओं के बीच गहन वार्ता हुई थी। ट्रंप से मुलाकात के बाद भी किम चीन पहुंचे थे और जिनपिंग से मिले थे। बताया जा रहा है कि किम ने जिनपिंग से हुई मुलाकात के दौरान उन्‍हें ट्रंप से हुई अपनी बातचीत के बारे में बताया था।

ट्रंप से पिछली मुलाकात से पहले और बाद में किम ने तीन बार चीन का दौरा किया था। अब किम एक बार फिर चौथी बार चीन पहुंचे हैं। इसके बाद ट्रंप से उनकी दूसरी संभावित मुलाकात जल्‍द होने की अटकलें लगाई जाने लगी हैं। किम अपनी पत्‍नी री सोल-जू के साथ सोमवार दोपहर चीन के चार दिवसीय दौरे पर रवाना हुए। किम के साथ पार्टी, सरकार और सैन्‍य अधिकारियों का एक श‍िष्‍टमंडल भी है।

ऐसा माना जा रहा है कि इसके जरिए किम दुनिया को यह संदेश देना चाहते हैं कि उत्‍तर कोरिया के चीन के साथ संबंध बेहद गहरे हैं और उसे भी एक सामान्‍य देश के तरह देखा जाना चाहिए। चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के भी उत्‍तर कोरिया का दौरा करने की संभावना है। उम्‍मीद जताई जा रही है कि दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों की शुरुआत के इस साल 70 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्‍य में वह उत्‍तर कोरिया का दौरा कर सकते हैं।

 

Posted By: Ramesh Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप