संयुक्त राष्ट्र, प्रेट्र। संयुक्त राष्ट्र के कमीशन ऑन द स्टेटस ऑफ वूमेन (सीएसडब्ल्यू) के एक महत्वपूर्ण चुनाव में भारत ने चीन को हराकर आयोग की सदस्यता हासिल की है। यह विश्व निकाय लिंग समानता और महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में काम करता है।

सीएसडब्ल्यू संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद (ईसीओएसओसी) का एक कार्यात्मक आयोग है। बता दें कि इसी वर्ष भारत को सुरक्षा परिषद का आठवीं बार अस्थायी सदस्य भी चुना गया है। 192 वोटों में से भारत के पक्ष में 184 वोट पड़े थे। सुरक्षा परिषद में भारत का कार्यकाल दो वर्षो का होगा और यह एक जनवरी 2021 से शुरू होगा।

54 सदस्यीय ईसीओएसओसी ने सोमवार को जनरल असेंबली हॉल में अपने 2021 सत्र की पहली बैठक आयोजित की, जिसमें एशियाई देशों की दो सीटों के लिए अफगानिस्तान, भारत और चीन एक साथ चुनाव मैदान में थे। संयुक्त राष्ट्र में राजदूत अदेला राज के नेतृत्व में अफगानिस्तान को 39 वोट मिले जबकि भारत को 54 मतपत्रों में से 38 मत मिले।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य चीन को सिर्फ 27 मत मिले और वह आवश्यक बहुमत के लिए जरूरी 28 वोट पाने में असफल रहा। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूíत ने ट्वीट किया, 'भारत ने प्रतिष्ठित ईसीओएसओसी निकाय में अपनी सीट पक्की कर ली है। भारत को कमीशन ऑन स्टेटस फॉर वूमेन का सदस्य चुना गया है।

यह लैंगिक समानता व महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए हमारी प्रतिबद्धता का परिणाम है। हम सदस्य देशों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देते हैं।' चुनाव परिणामों को महिला समानता और सशक्तीकरण से जुड़ेचीन के खराब रिकॉर्ड से भी जोड़कर देखा जा रहा है। आयोग में भारत व अफगानिस्तान का कार्यकाल 2021 से शुरू होगा और यह चार साल यानी 2025 तक रहेगा। आयोग में इन दोनों देशों के अलावा अर्जेटीना, ऑस्टि्रया, डोमिनिक गणराज्य, इजरायल, लताविया, नाइजीरिया, तुर्की, और जांबिया भी हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस