नई दिल्‍ली जागरण स्‍पेशल। चीन मंगलवार को अपना 70वें राष्‍ट्रीय दिवस मनाएगा। इस अवसर पर वह अपनी ताकत का भी प्रदर्शन करने वाला है। इस दौरान सड़कों पर 15 हजार जवानों के अलावा कई अत्‍याधुनिक और घातक हथियारों का भी प्रदर्शन होने वाला है। इनमें वो मिसाइल भी शामिल है जो महज 20 मिनट में अमेरिका तक मार करने में सक्षम है। इसके अलावा भी कई ऐसे हथियार इस परेड में शामिल होंगे जो इससे पहले कभी प्रदर्शित नहीं किए गए।  

DF-17 हाइपरसोनिक बेलेस्टिक मिसाइल

Dongfeng-17 एक शॉर्ट मीडियम रेंज मिसाइल है जो हाइपरसोनिक ग्‍लाइड व्‍हीकल लॉन्‍च कर सकती है। इसकी एक बड़ी खासियत ये है कि यह आवाज की गति से भी तेज रफ्तार में अपनी दूरी तय कर सकती है। इतना ही नहीं यह अमेरिकी मिसाइल शील्‍ड को भी भेदने में सक्षम है। उड़ान भरने के दौरान यह मिसाइल टार्गेट के हिसाब से अपनी ऊंचाई को कम या ज्‍यादा कर सकती है। इसके अलावा यह मिसाइल परमाणु हथियार के अलावा कंवेंशनल वारहेड भी ले जाने में सक्षम है। 2017 के अंत में इसका पहली बार टेस्‍ट किया गया था। इस दौरान इस मिसाइल ने धरती के वायुमंडल से बाहर जाने के बाद दोबारा सफलतापूर्वक एंट्री की थी। 

DF-41 इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइल

इस मिसाइल का पूरा नाम Dongfeng-41 है। नेक्‍स्‍ट जनरेशन वाली ये आईसीबीएम मिसाइल पहली बार इस परेड का हिस्‍सा बन रही है। Dongfeng का अर्थ होता है 'East wind'। यह मिसाइल 10 मैक की गति से उड़ान भर सकती है। इस मिसाइल की रेंज 7500 मील है। यह मिसाइल दुनिया के किसी भी कोने में महज कुछ ही मिनट में हमला करने में पूरी तरह से सक्षम है। इसमेंअमेरिका भी शामिल है। इस मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत है कि ये एक ही समय में दस अलग-अलग टार्गेट हिट कर सकेगी। यह मिसाइल न्‍यूक्लियर वारहेड ले जा सकती है। चीन के सैन्‍य विशेषज्ञ इसको अमेरिका और रूस द्वारा बनाई गई 7वीं जनरेशन की न्‍यूक्लियर मिसाइल के बराबर आंकते हैं। यह मिसाइल दुश्‍मन के राडार से बचने में सक्षम है। 2018 में सेना में शामिल करने से पहले इसके आठ सफल टेस्‍ट किए गए थे। इससे चीन को अलग-अलग जगहों पर मिसाइलों की तैनाती से भी छुटकारा मिल गया है। 

J-20 स्टिल्‍थ फाइटर जेट 

नेशनल डे के अवसर पर निकलने वाली परेड में इस बार पहली बार ये फाइटर जेट भी हिस्‍सा ले रहा है। हाल ही में पीएलए एयर फोर्स ने इसका एक वीडियो भी रिलीज किया है। इसमें यह थियानमेन चौक के ऊपर से उड़ान भरता हुआ दिखाई दे रहा है। इस परेड में सात J-20 जेट शामिल होंगे। सिंगल पायलट वाला यह विमान पांचवी पीढ़ी का फाइटर जेट है जो हर मौसम में उड़ान भरने में सक्षम है। सितंबर 2017 में चेंगदू जे-20 को आधिकारिक तौर पर चीन की वायु सेना में शामिल किया गया था। यह विमान दुश्‍‍‍‍मन के राडार को चकमा देकर उसके क्षेत्र में घुसकर तबाही मचा सकता है। यह विमान से हवा से हवा और हवा से जमीन पर हमला करने वाले हथियारों से लैस है।

H-6N बमवर्षक विमान 

H-6N bomber चीन का लंबी दूरी का बमवर्षक विमान है। नेशनल डे पर होने वाली परेड की रिहर्सल के दौरान यह भी इसका हिस्‍सा बना था। इस दौरान छह विमानों ने आसमान में फॉर्मेशन बनाई थी। रिहर्सल के दौरान इस विमान में KD-20/CJ-10K और दो KD-63 क्रुज मिसाइलें लगी थीं। यह विमान हवा में ही ईंधन लेने की क्षमता से लैस है। 

टाइप 15 टैंक 

चीन का ये लाइटवेट टैंक भी इस बार नेशनल डे की परेड का पहली बार हिस्‍सा बनेगा। इस टैंक में 105 mm गन लगी है जो दो मील की दूरी तक निशाना लगा सकती है। इसका वजन 36 टन है। हालांकि इस पर अब भी काम चल रहा है। इसको एयरड्रोप कर किसी भी जगह पर तैनात किया जा सकता है। जंगल, पहाड़ों और नदी में भी यह पूरी तरह से अपने काम को अंजाम दे सकता है। 

इमरान खान का ये कैसा कश्‍मीर प्रेम, भूकंप के 6 दिन बाद लोगों का हाल जानने का मिला वक्‍त

इमरान के 40 मिनट पर भारी विदिशा के पांच मिनट, पाक पीएम की सोशल मीडिया पर हो रही फजीहत 

बेवजह नहीं है रक्षा मंत्री राजनाथ की चिंता, पश्चिमी तट हर लिहाज से है भारत के लिए बेहद खास    

Posted By: Kamal Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप