झेजियांग, एजेंसी। Covid Cases in China- चीन में एक बार फिर कोरोना वायरस अपने पैर पसारने लगा है। कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए चीन के झेजियांग प्रांत में सख्त पाबंदियां लगानी शुरू कर दी गई है। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन के मध्य झेजियांग प्रांत के अधिकारियों ने यिवू शहर में सख्त COVID-19 प्रतिबंध लगाया है। इसके अलावा बड़े पैमाने पर परीक्षण भी किया जा रहा है।

अधिकारियों ने दी लोगों को शहर न छोड़ने की सलाह

कनाडा स्थित एक समाचार पोर्टल क्राइसिस 24 के अनुसार, अधिकारियों ने स्थानीय निवासियों को सलाह दी है कि जब तक आवश्यक न हो तब तक यिवू को न छोड़ें और अन्य क्षेत्रों के व्यक्तियों को शहर में प्रवेश न करने के लिए प्रोत्साहित करें। जिन लोगों को यिवू छोड़ने की आवश्यकता है, उन्हें 24 घंटे के भीतर एक हरा हरित स्वास्थ्य कोड और एक नकारात्मक न्यूक्लिक एसिड परीक्षण परिणाम प्रस्तुत करना होगा।

स्थानीय स्तर पर लगा लाकडाउन, बस सेवा भी बंद

इसके अलावा यिवू में मास टेस्टिंग चल रही है। बस सेवाओं को कम से कम 8 अगस्त तक निलंबित कर दिया गया है। साथ ही इनडोर मनोरंजन और फिटनेस स्थलों को भी बंद रखने का निर्देश दिया गया है। वहीं, करीब 16 उच्च और मध्यम जोखिम वाले क्षेत्रों में स्थानीयकृत लाकडाउन और घर में रहने के निर्देश जारी किए गए हैं। अधिकारी प्रभावित समुदायों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगाएंगे और आवाजाही प्रतिबंधों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए इन क्षेत्रों में चौकियों को लागू करेंगे।

Covid-19 के बढ़ते मामलों को देख लग सकते हैं कड़े प्रतिबंध

अधिकारी आमतौर पर नए पुष्टि किए गए सामुदायिक मामलों की नवीनतम तारीख के एक सप्ताह बाद तक उपायों का विस्तार करते हैं। प्रतिबंधों में ढील देने से पहले वे इन स्थानों पर परीक्षण के कई दौर आयोजित करेंगे। यदि नए Covid​​-19 मामले सामने आते हैं तो प्रांतीय अधिकारी सख्त प्रतिबंध लगा सकते हैं। जिसमें सख्त नियंत्रण, जैसे घर पर रहने के आदेश और गैर-जरूरी व्यवसायों को बंद करना शामिल है। इसके अलावा नए मामले सामने आने पर सरकार एहतियात के तौर पर यिवू में सभा, व्यापार और यात्रा प्रतिबंध लगा सकती है। बता दें कि यिवू हांग्जो से लगभग 95 किमी (59 मील) दक्षिण में स्थित है। इस बीच, जीरो कोविड नीति के सख्त उपायों के तहत कोविड-19 का मुख्य केंद्र रहा वुहान फिर से बंद हो गया है, हाल ही में यहां चार नए स्पर्शोन्मुख मामले सामने आए थे।

Edited By: Mohd Faisal