बीजिंग, पीटीआई। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन के बीच गतिरोध जारी है। इसी बीच चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने एलएसी पर तैनात पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिकों से वीडियो कॉल के जरिए बातचीत की और तैयारियों का जायजा लिया।

सीमा की 24 घंटे निगरानी कर रहे सैनिक

चीनी राष्ट्रपति ने पीएलए मुख्यालय से शिनजियांग सैन्य कमान के तहत खंजराब में सीमा रक्षा स्थिति पर सैनिकों को संबोधित किया। आधिकारिक मीडिया ने शुक्रवार को चिनफिंग और सैनिकों बीच हुई बातचीत की जानकारी दी। रिपोर्ट में बताया गया कि कॉल के दौरान चिनफिंग ने युद्ध की तैयारियों का निरीक्षण किया। इसी बीच एक सैनिक ने जवाब दिया कि वो 24 घंटे सीमा की निगरानी कर रहे हैं।

चिनफिंग ने सैनिकों से सीमा पर गश्त और प्रबंधन कार्यों से जुड़े सवाल पूछे। साथ ही सैनिकों की प्रशंसा करते हुए उन्हें डटे रहने और नए योगदान देने के लिए प्रोत्साहित किया। चीनी राष्ट्रपति पीएलए के कमांडर-एन-चीफ भी हैं। ऐसे में उन्होंने सैनिकों को दिए अपने संबोधन में हाल के वर्षों में क्षेत्र में हो रहे बदलाव के बारे में अपना विचार साझा किया।

China: चंद्र नव वर्ष की छुट्टियों में बच्चे खेल सकेंगे Online Games, मिलेगा अतिरिक्त समय

पैंगोंग में हुई झड़प के बाद शुरू हुआ था गतिरोध

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग इलाके में 5 मई, 2020 को भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद गतिरोध शुरू हुआ था। जिसके बाद सीमा पर पहले वाली स्थिति को बहाल करने के उद्देश्य से दोनों देशों के बीच 17 दौर की सैन्य वार्ता हो चुकी है। हालांकि, कुछ मुद्दों को लेकर अभी भी गतिरोध बना हुआ है। ऐसे में भारत ने जोर देते हुए कहा कि चीन के साथ द्विपक्षीय संबंधों के समग्र विकास के लिए एलएसी पर शांति जरूरी है।

Bosnia में युद्ध का सामना कर चुके लोग कर रहे हैं यूक्रेन की मदद, साझा की जिंदा बचे रहने की तरकीब

China: जनसंख्या में कमी दशकों के असफल परिवार नियोजन उपायों का नतीजा, होंगे वैश्विक प्रभाव

Edited By: Anurag Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट