मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

शेनझेन, एएफपी। हांगकांग की सीमा से महज सात किलोमीटर की दूरी पर स्थित शेनझेन शहर के एक बड़े स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में गुरुवार को हजारों चीनी सैनिकों ने परेड की। आतंकी हमलों से निपटने के लिए गठित चीन के विशेष सुरक्षा बल पीपुल्स आ‌र्म्ड पुलिस (PAP) के जवानों के साथ कई बख्तरबंद वाहन भी इस परेड में देखे गए।

इस परेड को स्वायत्तशासी हांगकांग में लोकतंत्र के समर्थन में हो रहे विरोध प्रदर्शनों से जोड़कर देखा जा रहा है। माना जा रहा है कि दस हफ्तों से जारी विरोध प्रदर्शनों को थामने के लिए चीन दखल दे सकता है। इन प्रदर्शनों से एशिया के प्रमुख वित्तीय केंद्र में कामकाज पूरी तरह ठप है।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के प्रमुख संपादक हू शिजिन ने कहा, शेनझेन में सेना की मौजूदगी इस बात का संकेत है कि चीन हांगकांग में दखल की तैयारी कर रहा है। अगर हांगकांग में प्रशासन के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन नहीं रुके तो चीन किसी भी वक्त सेना को कार्रवाई के लिए वहां भेज सकता है।

ट्रंप भी जता चुके हैं आशंका
चीन की गतिविधियों पर नजर रख रहे अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी हांगकांग में लोकतंत्र समर्थकों के खिलाफ चीनी सेना की कार्रवाई की आशंका जताई है। अमेरिकी खुफिया तंत्र से मिली सूचना के आधार पर ट्रंप ने मंगलवार को कहा था, मुझे जानकारी मिली है कि चीन अपनी सेना कभी भी हांगकांग की ओर रवाना कर सकता है। उम्मीद करता हूं कि सबकुछ शांतिपूर्ण रहेगा, किसी को नुकसान नहीं पहुंचेगा और ना ही किसी की मौत होगी।'

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप