शंघाई, एएफपी। घर में आग लगाकर अपनी मालकिन और उनके तीन बच्चों को मारने वाली चीनी आया मो हुआनजिंग को यहां शुक्रवार को फांसी दे दी गई। यह मामला सामने आने पर पूरा देश स्तब्ध रह गया था। पीडि़त परिवार ने पहले अपार्टमेंट के बिल्डर को इस हादसे का जिम्मेदार ठहराया था। उनका कहना था कि इमारत में उचित सुविधाएं मुहैया नहीं कराने के कारण आग बुझाई नहीं जा सकी।

यह घटना जून, 2017 में हुई थी। हुआनजिंग (35) को जुए की लत थी जिसके कारण उसने लिन शेंगबिन की पत्नी से कुछ रुपये उधार लिए थे और उनके आभूषण भी चुराए थे। कोर्ट में उसने घर में आग लगाने की बात कबूली थी। वह आग बुझाकर परिवार की नजर में हीरो बनना चाहती थी। उसे उम्मीद थी कि इसके लिए उसे नकद पुरस्कार मिलेगा। लेकिन आग कुछ देर में विकराल हो गई।

हुआनजिंग तो अपनी जान बचाकर भाग गई लेकिन लिन की 34 वर्षीय पत्नी जू जायोजेन और छह, नौ व ग्यारह साल के तीन बच्चों की दम घुटने से मौत हो गई। हुआनजिंग को सजा मिलने के बाद लिन ने कहा, जू और मेरे तीनों बच्चों की आत्मा को अब शांति मिलेगी।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस