बीजिंग, रॉयटर्स। चीन इस वक्त कोरोना वायरस के प्रकोप का सामना करना रहा है, लेकिन इस बीच चीन की एक लैब ने दावा किया है कि कोरोना वायरस के बारे में दुष्प्रचार किया जा रहा है। इस दुष्प्रचार के चलते कोरोना वायरस से निपटने के लिए सभी वैश्विक प्रयास पर बुरा असर पड़ रहा है। कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करने के लिए लगाए गए केंद्र पर मौजूद Specialist Infectious Disease Lab ने यह दावा किया है।  इसके साथ ही लैब की तरफ से दावा किया गया है कि इस महामारी को लेकर षड्यंत्र रचा जा रहा है। यह बयान बुधवार को जारी किया गया।

अफवाहों से शोध कर्मचारियों को भी हो रहा नुकसान

वुहान इंस्‍टीट्यूट ऑफ वीरोलॉजी  के मुताबिक, कोरोना वायरस के बारे में इंटरनेट पर अफवाहें फैलाई जा रही है। जिससे लोगों की जिंदगी पर बुरा असर पड़ रहा है। ऐसी अफवाहों से हमारे शोध कर्मचारियों को भी बहुत नुकसान पहुंचा है। इसके साथ ही कहा गया कि हमारा स्टाफ इस वायरस की जड़ को तलाश करने की कोशिश कर रहा है और साथ ही इससे निपटने के लिए भी पूरे प्रयास कर रहा है, लेकिन कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार और षड्यंत्र हमारे प्रयासों पर बुरा असर डाल रहा है।

सिडनी विश्वविद्यालय में एक संक्रामक विशेषज्ञ Kamradt Scott ने कहा कि अक्सर ऐसी महामारी के दौरान सोशल मीडिया पर अफवाहें फैलाई जाती हैं। ठीक वैसे ही जैसे,एवियन फ्लू और इबोला के दौरान फैलाई गई थी।

वुहान सिटी कोरोना का केंद्र

इसके अलावा कहा गया कि कोरोना वायरस का पहला मरीज चीन के वुहान सिटी से सामने आया था, लेकिन बुधवार को वेबसाइट Snopes.com की तरफ से इस वायरस को लेकर अफवाह फैलाई, जिसे बुधवार को खारिज किया गया है। हालांकि इस तरह के षडयंत्र का पोस्ट अभी ऑनलाइन मौजूद नहीं है।

रॉयटर्स के हवाले से रिपब्लिकन सीनेटर टॉम कॉटन (Tom Cotton) ने फोक्स न्यूज चैनल को इस हफ्ते बताया कि हम यह प्रश्न उठाएंगे की क्या कोरोना वायरस की उत्पत्ति वुहान लैब में हुई थी। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि 27 वैज्ञानिकों की टीम ने मंगलवार को Lancet medical journal में एक लेख छापा है। इस लेख में कोरोना वायरस के षड्यंत्र के सिद्धांतों की निंदा गई है।

बता दें कि विश्वभर के वैज्ञानिकों ने यह निष्कर्ष निकाला है कि कोरोना वायरस की उत्पति एक जंगली जानवर से हुई ही थी। इस वायरस चीन में काफी लोगों की मौत भी हो चुकी है।

Posted By: Pooja Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस