बीजिंग, पीटीआइ। क्‍या, चीन में कोरोना वायरस की वापसी हो रही है? ये सवाल इसलिए उठ रहा है, क्‍योंकि चीन ने नोवेल कोरोना वायरस के 63 नए पुष्ट मामलों की सूचना दी है, जिसमें 61 आयातित केस भी शामिल हैं। इन मामलों ने संक्रमण की दूसरी लहर की चिंता को बढ़ा दिया है। चीन में कुल नए मामलों की संख्‍या 1100 पहुंच गई है। हालांकि, इस बीच बुधवार को चीन ने वुहान में लगे 76 से लगे लॉकडाउन को हटा दिया।

चीनी स्वास्थ्य प्राधिकरण ने गुरुवार को कहा कि देश में दो मौतें होने से कुल मृत्यु का आंकड़ा 3,335 पहुंच गया है। देश में कुल कोरोना वायरस के मामले 81,865 तक पहुंच चुके हैं। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने गुरुवार को कहा कि उसे बुधवार को चीनी मुख्य भूमि पर 63 नए पुष्टिकृत कोरोना वायरस मामलों की रिपोर्ट मिली, जिनमें से 61 विदेशी हैं, जिससे कुल मामले 1,104 पहुंच गए हैं।

जनवरी से लगभग तीन महीने तक कोरोनो वायरस के खिलाफ लड़ाई के बाद, चीन तेजी से सामान्य स्थिति में लौट रहा है। यहां बस और ट्रेन पर लगी पाबंदियां हटा ली गई हैं। फैक्ट्रियों में काम शुरू हो गया है। इसलिए हजारों लोग चीन में लौट रहे हैं। ऐसे में नए संक्रमणों के लगातार बढ़ने का खतरा बना हुआ है। चीन को ये भी खतरा महसूस हो रहा है कि कहीं महामारी फिर करवट न ले। दरअसल, हाल ही में खबरें आई थी कि चीन में कुछ लोगों में संक्रमण के लक्षण फिर दिखाई दे रहे हैं, जबकि कुछ समय पहले उनकी रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई थी।

इधर, बुधवार को 76 दिनों के बाद कोरोना वायरस की जन्‍मस्‍थली वुहान शहर से लॉकडाउन खोल दिया गया। लॉकडाउन खुलने से हजारों लोग सड़कों पर लौट आए हैं। इन्‍होंने फिर से बसों और ट्रेनों में सफर करना शुरू कर दिया है। ऐसे में अगर ये लोग संक्रमित लोगों के संपर्क में आते है, तो मुश्किलें बढ़ सकती हैं। वैसे, बता दें कि हाल ही में गुआंगडोंन प्रांत में संक्रमण के दो नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा, बुधवार को विदेश से आए 28 सहित 56 नए कोविड-19 के मामलों की रिपोर्ट दर्ज की गई। इनमें से कई को क्‍वारंटाइन के तहत रखा गया था।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस