बीजिंग, एजेंसी। कोरोना वायरस से निपटने को लेकर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की सार्वजनिक रूप से आलोचना करने वाले चीन के एक बिजनेसमैन को भ्रष्टाचार के आरोप में 18 साल की जेल की सजा सुनाई गई है। देश के नामी बिजनैसमैन रेन झिकियांग (Ren Zhiqiang) को इससे पहले सत्तारूढ़ कम्यूनिस्ट पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था।

बीजिंग की अदालत ने कहा कि रेन झिकियांग भ्रष्टाचार के दोषी पाए गए हैं। रेन पर करोड़ो रुपये की घूस लेने का भी आरोप लगाया गया था। कोर्ट ने उन्हें 18 साल की जेल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने कहा कि रेन झिकियांग ने अपने पूर्व पदों का इस्तेमाल रिश्वत लेने और सार्वजनिक धन का गबन करने के लिए किया था। हालांकि रेन के सपोर्टर्स का मानना है कि शी जिंनपिंग पर रेन द्वारा की गई टिप्पणी के कारण उन्हें कारावास की सजा सुनाई गई है।

चीन और दुनियाभर में फैले कोरोना संक्रमण से निपटने को लेकर रेन द्वारा शी की आलोचना करने के बाद उन्हें मार्च महीने में हिरासत में लिया गया था। इसके बाद सत्तारूढ़ पार्टी की तरफ से घोषणा की गई थी कि उनको पार्टी से बाहर कर दिया गया है। बता दें कि रेन झिकियांग सेंशरशिप व अन्य संवेदनशील मुद्दों पर बोलने के लिए जाने जाते हैं ।

मार्च में एक आलेख के ऑनलाइन प्रकाशन के बाद से ही रेन झिकियांग सार्वजनिक तौर पर मौजूदगी नहीं देखी गई। इस आलेख में उन्होंने देश के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के प्रति आलोचनात्मक रुख दिखाया था जो कोविड-19 को लेकर था। दरअसल चीन के वुहान में पिछले साल शुरू हुए महामारी पर काबू न कर पाने के लिए उन्होंने राष्ट्रपति को कसूरवार बताया था। 69 वर्षीय रेन पर भ्रष्टाचार, घूसखोरी और अपने पद के दुरुपयोग का आरोप था। बीजिंग में डिसिप्लीन इंसपेक्शन कमिशन ऑफ शीचेंग डिस्ट्रिक्ट ने अपनी वेबसाइट पर यह जानकारी दी थी। हुआयुआन ग्रुप (Huayuan Group) के डिप्टी पार्टी सेक्रेटरी और पूर्व चेयरमैन को सत्तारूढ़ पार्टी से निकाल दिया गया। हालांकि अपराधों का विवरण नहीं दिया गया था।

चिनफिंग अपनी आक्रामक नीतियों के चलते वैश्विक स्तर और घरेलू मोर्चे पर संकट में घिरते जा रहे हैं

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस