बीजिंग, एएनआइ। भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर मुद्दे पर इनदिनों बहस छिड़ी हुई है। कश्मीर पर ट्रंप के बयान से उपजा विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है तो अब इस मुद्दे को और तूल दे दिया है भारत के पड़ोसी देश चीन ने। चीन ने शुक्रवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि भारत और पाकिस्तान बातचीत के जरिए कश्मीर मुद्दे और अन्य द्विपक्षीय विवादों को शांति से सुलझा सकते हैं।

डन्या न्यूज ने चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग के हवाले से कहा है कि चीनभी संयुक्त राज्य अमेरिका (अमेरिका) सहित अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का समर्थन करता है कि बातचीत के जरिए से दो बड़े एशियाई देशों के बीच संबंधों को बेहतर बनाने की पहल की जाए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने आगे कहा कि एक पड़ोसी के रूप में चीन को पूरी उम्मीद है कि भारत और पाकिस्तान सद्भाव में रह सकते हैं। 

चुनयिंग ने कहा, 'हमें उम्मीद है कि दोनों देश शांति से और कश्मीर द्विपक्षीय मुद्दों को बातचीत के माध्यम से सुलझा सकते हैं और दक्षिण एशिया में शांति और स्थिरता की रक्षा के लिए ठोस प्रयास कर सकते हैं।'

चीन के विदेश मंत्रालय की ओर से यह टिप्पणी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा मंगलवार को व्हाइट हाउस में पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान के साथ बैठक के बाद आई है, उस दौरान ट्रंप ने कहा था कि वह कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करना पसंद करेंगे और उसी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक अनुरोध किया गया था।ट्रंप की इस टिप्पणी के बाद काफी विवाद हुआ।

हालांकि, ट्रम्प की टिप्पणी के तुरंत बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि ऐसा कोई अनुरोध नहीं किया गया था और इस बात पर जोर दिया गया था कि पाकिस्तान के साथ सभी प्रमुख मुद्दों पर केवल द्विपक्षीय रूप से चर्चा की जाती है।

उसी दिन, संसद के दोनों सदनों में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्रंप की टिप्पणी पर कहा था, 'मैं सदन को आश्वस्त करना चाहूंगा कि प्रधानमंत्री मोदी ने ऐसा कोई अनुरोध नहीं किया है।'उन्होंने कहा, 'भारत पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय रूप से उत्कृष्ट मुद्दों पर चर्चा करने के अपने निश्चय पर टिका हुआ है।' विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि सीमा पार आतंकवाद को खत्म करने के बाद ही पाकिस्तान के साथ बातचीत फिर से शुरू हो सकती है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप