बीजिंग, एजेंसी । अमेरिका के न्यूयॉर्क स्थित मानवाधिकारों से जुड़ी संस्था ह्यूमैन राइट्स वाच के वैश्विक प्रमुख केनेथ रॉथ को रविवार को हांगकांग में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दिए जाने पर चीन ने बचाव किया है। चीन ने हांगकांग के फैसले का उचित बताया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने एक नियमित प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि किसी की प्रविष्टि को अनुमति देना या न करना चीन का संप्रभु अधिकार है।

बता दें कि केनेथ रोथ को वैश्विक सर्वेक्षण का अनावरण करने के लिए इस सप्ताह हांगकांग में एक संवाददाता सम्मेलन करना था, लेकिन उन्होंने कहा कि रविवार को उन्हें शहर के हवाई अड्डे पर अधिकारियों द्वारा वापस कर दिया गया। ग्रुप के कार्यकारी निदेशक केनेथ रॉथ ने कहा कि उन्हें हांगकांग एयरपोर्ट पर बाहर जाने से रोक दिया गया। यह पहली बार हुआ कि उन्हें हांगकांग में प्रवेश करने से रोका गया, इससे पहले वह बेरोक-टोक यहां आते-जाते रहे हैं। हांगकांग पर चीन का अधिकार है। 

गेंग ने कहा कि तथ्यों और सबूतों से बहुत कुछ पता चलता है कि संबंधित एनजीओ ने चीन विरोधी कट्टरपंथियों के समर्थन के विभिन्न माध्यमों के माध्यम से उन्हें चरमपंथी, हिंसक और आपराधिक गतिविधियों में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया और हांगकांग की स्वतंत्रता अलगाववादी गतिविधियों को उकसाया।चीन के अधिकार को लेकर वहां कई महीने से विरोध प्रदर्शन चल रहा है। विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए हांगकांग में चीन समर्थित सरकार ने विदेशी पत्रकारों और कार्यकर्ताओं के प्रवेश पर रोक लगा दी है। रॉथ ने कहा कि उनके प्रवेश पर रोक के लिए अधिकारियों ने आव्रजन की समस्या बताया है। इस संबंध में हांगकांग की सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021