बीजिंग, जेएनएन। चीन ने अगली पीढ़ी की पनडुब्बी से लॉन्च की गई बैलिस्टिक मिसाइल JL-3 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है, जो संयुक्त राज्य अमेरिका को परमाणु हमला करने में सक्षम है। इस परीक्षण के बाद भारत जैसे देश चीन के दायरे में आ जाएंगे।  

इस बारे में चीन के राष्ट्रीय रक्षा प्रवक्ता रेन गुओकियांग ने गुरुवार को एक प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि योजना के अनुसार वैज्ञानिक शोध और परीक्षण सामान्य है। रेन दो जून को मध्य चीन के कई प्रांतों में आसमान में घूम रही एक रहस्यमयी रोशनी की खबरों का जवाब दे रहे थे, जिसने वहां के निवासियों को चिंतित कर दिया और गोपनीय सैन्य परीक्षण की अटकलों को हवा दे दी थी।  

हेनान प्रांत के झेंग्झौ से शूट किए गए लाइट के एक वीडियो में दिखाया गया है कि लंबी पूंछ वाले उड़ता हुआ धुएं शहर के केंद्रीय व्यापार जिले के ऊपर उड़ रहा है और धीरे-धीरे गायब हो रहा है। सोशल मीडिया पर प्रकाशित पोस्ट में द पीपुल्स लिबरेशन आर्मी रॉकेट फोर्स और चीनी नौसेना ने संकेत दिया कि अज्ञात उड़ने वाली वस्‍तु मिसाइल की लॉन्च हो सकती है।

इस बारे में चीन की मिलिट्री ने बताया कि यह प्रकाश बीजिंग के JL-3 प्रयोग से संबंधित हो सकता है और यह मिसाइल हाइपरसोनिक बम से लैस थी। 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप