बीजिंग, प्रेट्र। चीन ने सोमवार को कहा कि बीजिंग में मिले ओमिक्रोन के इकलौते मामले के लिए अमेरिका और हांगकांग के रास्ते कनाडा से आया एक डाक जिम्मेदार है। बीजिंग में अगले महीने से विंटर ओलंपिक खेल शुरू होने वाले हैं, जिसको लेकर अत्यधिक सावधानी बरती जा रही है।

चीन की सरकारी मीडिया ने कहा कि चीन की जिस महिला को ओमिक्रोन से संक्रमित पाया गया है उसके पास 11 जनवरी को कनाडा से एक डाक के जरिये कुछ दस्तावेज मिले थे। चीन का कहना है कि संक्रमित महिला में जो स्ट्रेन मिला है उसी तरह का स्ट्रेन उत्तरी अमेरिका और सिंगापुर में भी मिल चुका है।

बीजिंग के रोग नियंत्रण विभाग के उप निदेशक पैंग शिंगुओ ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि महिला ने बताया है कि उसने डाक से आए बाक्स के बाहरी हिस्से और उसमें रखे दस्तावेज के पहले पेज को छुआ था। अधिकारियों ने डाक से पर्यावरण संबंधी 22 नमूने लिए थे और न्यूक्लिक एसिड टेस्ट में सभी पाजिटिव पाए गए हैं।

ग्लोबल टाइम्स ने बीजिंग सेंटर फोर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के उप निदेशक पैंग जिंगहुओ के हवाले से कहा कि महामारी विज्ञान के अध्ययन के साथ संदिग्ध नमूनों के परीक्षण के परिणाम और मामले के जीन सीक्वेंसिंग परिणाम को देखते हुए इस संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है कि अंतरराष्ट्रीय मेल के माध्यम से बीजिंग तक यह वैरिएंट पहुंचा है। पैंग ने कहा कि मरीज में पाया गया ओमिक्रोन का स्ट्रेन ठीक वैसा ही है जैसा पिछले साल दिसबंर में अमेरिका और सिंगापुर में पाया गया था।

इसके साथ ही बीजिंग के स्वास्थ्य अधिकारियों ने इस बात से साफ इन्कार किया है कि इस वैरिएंट का चीन के किसी अन्य शहर से कोई संबंध है। रिपोर्ट में कहा गया है कि मेल से संबंधित 22 नमूनों के परीक्षण के परिणामों से पता चला है कि ओमिक्रोन मेल पैकेज की बाहरी सतह के दो नमूनों में, आंतरिक सतह के दो नमूनों और कागज के आठ नमूनों में पाया गया था। कोरोना वायरस कम तापमान में लंबे समय तक जीवित रह सकता है, इस प्रकार सर्दियों में बाहर से आने वाले सामानों से वायरल ट्रांसमिशन का जोखिम बढ़ जाता है। पैंग ने लोगों को विदेशी वस्तुओं की खरीद कम करने का सुझाव दिया है क्योंकि विदेशों में महामारी व्याप्त है। बीजिंग के स्वास्थ्य अधिकारियों ने लोगों को मास्क व दस्ताने पहनने और विदेशों से आने वाले मेल या सामान प्राप्त करते समय एहतियाती उपाय रखने को कहा है।

Edited By: Neel Rajput