बीजिंग (रॉयटर्स)। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संगठन में चीन द्वारा लाए गए एक प्रस्ताव को अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने खारिज कर दिया है, जिसके बाद चीन ने अमेरिका पर घमंडी होने का आरोप लगाते हुए उसकी आलोचना की  है।

दरअसल अमेरिका का मानना था कि इस प्रस्ताव में चीनी राष्ट्रपति के 'विन-विन' एजेंडे का महिमामंडन किया था। जेनेवा में हुई काउंसिल की इस बैठक में चीन ने इस प्रस्ताव के विरूद्ध वोट दिया था। अमेरिकी राजनयिक ने वहां मौजूद चीनी अधिकारियों से दो टूक कहा कि इस प्रस्ताव का उद्देश्य केवल चीन के राष्ट्रपति चिनफिंग का महिमामंडन करना है।

चीन द्वारा पिछले 12 वर्षों में लगभग दूसरी बार एक प्रस्ताव पेश किया गया था जिसे 'पारस्परिक रूप से लाभकारी सहयोग' कहा जा रहा था। आस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, जापान, और स्विट्जरलैंड ने भी चीन के इस प्रस्ताव के विरोध में वोट किया। जानकारों का मानना है कि अमेरिका द्वारा उठाए गए इस कदम के बाद दोनों देशों में तनाव और बढ़ सकता है। चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनियिंग ने नियमित प्रेस वार्ता में बताया, 'जिनेवा में अमेरिका अधिकारी द्वारा जो कहा गया वो बिल्कुल भी सहीं नहीं था और यह अमेरिका के बढ़ते हुए अहंकार को प्रदर्शित करता है।'

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस