कनाडा (एजेंसी)। कनाडा में एक आरोपी ने मर्डर ट्रायल से पहले संवेदनशील सबूतों को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। जिसके बाद पुलिस को चिंता है कि इसका असर केस पर पड़ेगा। आरोपी के वकील ने उसे एक यूएसबी डिवाइस के जरिए केस से जुड़े सबूतों का वीडियो दिया था। पुलिस को इस बात से परेशान है कि वीडियो को ऑनलाइन पोस्ट होने के बाद इसे गवाहों और जूरी सदस्य ने देखा तो इसका असर ट्रायल पर पड़ सकता है।

सीबीसी न्यूज के अनुसार दो भाइयों जूलियस और थियो व्ही और एक अन्य व्यक्ति साद ओसमान पर युवक मोहम्मद साकिब की हत्या का आरोप है। मोहम्मद साकिब का शव सितंबर 2015 में एक जले हुए वाहन में मिला था। इस केस का ट्रायल 9 अप्रैल से शुरू होना था। ओसमान को उसके वकील जेरेड क्रेग ने प्रोमो-स्टाइल में एक वीडियो दिया था। इस वीडियों में पीड़ित, आरोपी, गवाह और हत्या वाली जगह की तस्वीरें थी। विपक्ष के वकील एड्रियनो इओविनेली का कहना है कि इससे सभी अभियुक्तों पर गहरा असर पड़ेगा।

गौरतलब है कि पुलिस अपनी जांच द्वारा इकट्ठा किए गए सबूतों को मामले आरोपी के वकीलों के साथ साझा करते हैं, ताकि वह इससे उचित रुप से सुनवाई के दौरान अपने पक्ष को तैयार कर सकें। इस मामले में भी पुलिस ने आरोपियों को वकील के साथ सबूतों को शेयर किया था जिसके बाद वकील ने उन्हें अभियुक्तों को दे दिया। जिसके बाद इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया गया।

By Arti Yadav