न्यूयॉर्क (रायटर)। अमेरिका के ओरेगांव में एक महिला की आंख से 14 कीड़े निकाले गए। चिकित्सकों के लिए यह चौंकाने वाली घटना इसलिए भी थी कि ये कीड़े अब तक जानवरों में ही मिला करते थे। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के वैज्ञानिकों के अनुसार थेलाजिया गुलोसा प्रजाति के परजीवी कीट के कारण मनुष्य में होने वाले संक्रमण की यह दुनिया की पहली घटना है।

एबी बेकले (26) नाम की महिला को अगस्त 2016 में बाई आंख में जलन की शिकायत हुई। सात दिनों में ही उसकी आंख से एक कीड़ा निकला। चिकित्सकों ने जांच में पाया कि यह कीड़ा थेलाजिया गुलासो प्रजाति का है। फिर अगले 20 दिनों में बेकले की आंख से ऐसे ही करीब 14 और कीड़े निकाले गए। आधा इंच लंबा यह परजीवी कीट आंखों की पुतली के पास मौजूद चिकने पदार्थ से पोषण प्राप्त करता है। थेलाजिया कीड़े से कुत्ते, बिल्ली, लोमड़ी जैसे जीव संक्रमित होते रहे हैं। इस कीट के संक्रमण को फैलाने में मक्खियां मुख्य कारक होती हैं।

'ट्रॉपिकल मेडिसिन एंड हाइजीन' जर्नल में छपे शोध के अनुसार इस कीट से होने वाले संक्रमण से सबसे अधिक उत्तरी अमेरिका और दक्षिणी कनाडा के मवेशी ग्रस्त हैं। शोधकर्ताओं ने कहा, 'उत्तरी अमेरिका के लोग इस तरह के संक्रमण के प्रति हमारे अनुमान से अधिक संवेदनशील हैं। ऐसे कीड़े व्यक्ति की आंखों में लंबे समय तक रहने से कार्निया को नुकसान पहुंचाने के साथ अंधेपन का कारण भी बन सकते हैं।'

प्रमुख शोधकर्ता रिचर्ड ब्रैडबरी ने बताया, 'दुनियाभर में केवल दो तरह के कीटों के कारण ही आंखों में संक्रमण में होता था। अब इसमें थेलाजिया गुलासो भी शामिल हो गया है।' इससे पहले कीट के कारण आंखों में संक्रमण की शिकायत यूरोप और एशिया के पिछड़े इलाकों में रहने वाले लोगों में ही पाई जाती थी। मवेशियों के साथ ज्यादा संपर्क में रहना इस तरह के संक्रमण का प्रमुख कारण है।

By Kishor Joshi