वाशिंगटन एजेंसी। कोरोना महामारी के चलते अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था पूरी तरह से चरमरा गई है। यही वजह है कि प्रत्‍येक वर्ष गर्मी में बजट से जुड़ा एक आर्थिक अनुमानों की रिपोर्ट को टाल दिया गया है। इस बार इस रिपोर्ट को जारी नहीं किया जाएगा। व्हाइट हाउस के अधिकारियों ने कहा है कि इस साल गर्मी में पेश होने वाला आर्थिक अनुमानों को जारी नहीं किया जाएगा। व्हाइट हाउस ने कहा है कि कोरोना महामारी के कारण अर्थव्‍यवस्‍था में गहरी मंदी है। इसके चलते इसे प्रकाशित नहीं किया जाएगा। इसे लेकर विपक्ष ने ट्रंप प्रशासन को घेरना शुरू कर दिया है। विपक्ष एवं अर्थशास्त्रियों ने ट्रंप प्रशासन पर दबाव बनाया है कि वह देश की अर्थव्‍यवस्‍था की तस्‍वीर पेश करें। 

वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के बाद शुरू हुई सियासत 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार वाशिंगटन पोस्ट ने गुरुवार को एक रिपोर्ट में बताया कि ट्रंप प्रशासन के इस फैसले के पीछे कोरोना महामारी है। इस महामारी के चलते अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था में भंयकर अस्थिरता पैदा हो गई है। इस मंदी का किसी भी प्रकार का अनुमान लागा पाना बेहद मुश्किल हो रहा है। इस पोस्‍ट के बाद अमेरिका में सियासत गरमा गई है। विपक्ष ने इस पोस्‍ट को आधार बनाकर संघीय सरकार से अर्थव्‍यस्‍था की सही तस्‍वीर पेश करने का दबाव बनाया है। इस वर्ष अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव के मद्देनजर विपक्ष इसको मुद्दा बना रहा है।

अर्थशास्त्रियों ने के ट्रंप प्रशासन को घेरा 

उधर, व्‍हाइट हाउस और संघीय सरकार के पूर्व अर्थशास्त्रियों ने के ट्रंप प्रशासन की इस नीति निंदा की है। इन अर्थशास्त्रियों ने कहा है कि ट्रंप प्रशासन देश की मौजूदा अर्थव्‍यस्‍था के बारे में सटीक जानकारी देने से कन्‍नी काट रहा हैं। उसके पीछे सबसे बड़ी वजह इस वर्ष अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव हैं। अर्थशास्त्रियों का तर्क है कि ट्रंप प्रशासन को डर है कि अगर उन्‍होंने अर्थव्‍यस्‍ती की सही तस्‍वीर पेश तो उसका असर चुनाव पर पड़ सकता है।  

सत्‍ता पक्षा ने कहा- पूर्वानुमान के डेटा प्रकाशित करना मुर्खतापूर्ण कदम होगा

उधर, विपक्ष के रुख को देखते हुए ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस पोस्ट के हवाले से लिखा है कि अर्थव्‍यवस्‍था के लिए यह एक अभूतपूर्व स्थिति है। इसलिए अर्थव्‍यवस्‍था की कुछ भी समीक्षा करना मुर्खतापूर्ण कदम होगा। अर्थव्‍यवस्‍था के पूर्वानुमान के डेटा प्रकाशित करना मुश्किल है। यह बहुत तेजी से बदल रहा है। इसलिए कुछ भी कहना जनता को गुमराह करना होगा।   

फरवरी में बजट के बाद जुलाई में होती है आर्थिक समीक्षा 

गौरतलब है कि अमेरिकी में हर फरवरी माह में एक संघीय बजट पेश किया जाता है। इसके बाद जुलाई या अगस्‍त में आम तौर पर बेरोजगारी, मुद्रास्फीति और आर्थिक विकास जैसे आर्थिक रुझानों पर समीक्षा की जाताी है। इसे मध्‍य सत्र समीक्षा कहा जाता है। ट्रंप प्रशासन ने इस समीक्षा रिपोर्ट को जारी करने में अपनी असमर्थता व्‍यक्‍त की है। यह एक आार्थिक प्रक्रिया अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था का अहम हिस्‍सा है।

    

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस