वाशिंगटन, एएफपी। ह्वाइट हाउस ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ होने वाली महाभियोग की सुनवाई में शामिल होने से इन्कार कर दिया है। ट्रंप के वकील पैट सिपोलोन ने मामले की सुनवाई कर रही संसदीय समिति के अध्यक्ष को लिखे पत्र में कहा कि बुधवार को होने वाली सुनवाई में ह्वाइट हाउस शामिल नहीं होगा। यह सुनवाई संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा की न्यायिक समिति कर रही है। इस सदन में विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी बहुमत में है।

राष्ट्रपति भवन ह्वाइट हाउस के वकील सिपोलोन ने समिति के डेमोक्रेटिक अध्यक्ष जेरी नैडलर को लिखे पत्र में कहा, 'हमसे सुनवाई में हिस्सा लेने की उम्मीद नहीं की जा सकती। अभी तक गवाहों के नाम तक नहीं बताए गए हैं। यह भी साफ नहीं है कि क्या न्यायिक समिति अतिरिक्त सुनवाई के माध्यम से निष्पक्ष प्रक्रिया का पालन करेगी। मौजूदा परिस्थितियों के तहत बुधवार को होने वाली आपकी सुनवाई में शामिल होने का हमारा इरादा नहीं है।'

कानूनी आयामों पर होगा विचार

न्यायिक समिति की इस सुनवाई में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के कानूनी आयामों पर विचार किया जाएगा। यह गौर किया जाएगा कि क्या जांच में शामिल किए गए साक्ष्य देशद्रोह, रिश्वतखोरी या दूसरे गंभीर अपराधों या अनुचित आचरण के आधार पर संवैधानिक रूप से महाभियोग चलाने के मानकों को पूरा करते हैं या नहीं।

राष्ट्रपति पर यह है आरोप

ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने अगले साल नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में अपने संभावित डेमोक्रेट प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन को बदनाम करने के लिए यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की पर दबाव बनाया था। जेलेंस्की से गत 25 जुलाई को फोन पर हुई बातचीत में ट्रंप ने बिडेन के खिलाफ जांच शुरू करने को कहा था। ट्रंप इस आरोप से इन्कार कर चुके हैं।

दो बार तय की गई थी समयसीमा

समाचार एजेंसी रायटर के अनुसार, न्यायिक समिति ने ट्रंप को यह बताने के लिए रविवार शाम छह बजे तक का वक्त दिया था कि वह या उनके वकील बुधवार की सुनवाई में शामिल होंगे या नहीं। इससे पहले समिति ने इस बारे में ट्रंप का रुख जानने के लिए शुक्रवार शाम पांच बजे तक की समय सीमा तय की थी।

 

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप